प्राइवेट अस्पतालों पर भड़कने के बाद CM ने लोकनायक अस्पताल के कर्मचारियों को सराहा

yamaha

नई दिल्ली/डेस्क। दिल्ली में बेड्स की कालाबाजारी से प्राइवेट अस्पतालों से नाराज चल रहे सीएम केजरीवाल ने लोकनायक अस्पताल के स्टाफ की तारीफ की है। उन्होंने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर लिखा है कि एलएनजेपी अस्पताल (LNJP Hospital) में डॉक्टर्स और पैरामेडिकल स्टाफ शुरू से ही कड़ी मेहनत कर रहे हैं। हम सभी को उन्हें प्रोत्साहित करना चाहिए और उनके साथ खड़े रहना चाहिए।

इसके साथ ही अन्य अस्पतालों का उत्साह बढ़ाते हुए सीएम केजरीवालव ने कहा है कि अन्य अस्पताल के डॉक्टर्स और नर्स भी कड़ी मेहनत कर रहे हैं। आपको बता दें कि सीएम केजरीवाल दिल्ली के निजी अस्पतालों से नाराज चल रहे हैं। इसके अलावा उन्होंने सर गंगाराम अस्पताल के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज करवाई है। दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल के खिलाफ कथित रूप से कोविड-19 (Covid19) के नियमन संबंधी मानकों का उल्लंघन करने के लिये मामला दर्ज किया गया है।

निजी अस्पतालों को रिजर्व रखने होंगे 20 प्रतिशत बेड्स
अस्पतालों की लापरवाही को देखते हुए दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने शनिवार को प्राइवेट अस्पतालों को सख्त चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 मरीजों को ‘भर्ती करने से मना करने’ और बिस्तरों की कालाबाजारी करने पर उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि सभी निजी अस्पतालों को अपने 20 प्रतिशत बेड कोरोना मरीजों के लिए रिजर्व रखने होंगे और अस्पताल  कोरोना मरीज का इलाज करने से बिल्कुल भी मना नहीं करेंगे।

सर गंगा राम अस्पताल पर कार्रवाई से नाराज डीएमए
दिल्ली मेडिकल असोसिएशन (DMA) ने इसे लेकर आवाज उठाई है और सरकार के कदमों का विरोध किया है। डीएमए ने कहा कि जिस तरह से दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल कोरोना वायरस के मरीजों को भर्ती करने और उनका टेस्ट करने के लिए डॉक्टरों को चेतावनी दे रहे हैं और अस्पतालों को धमका रहे हैं उसकी हम कड़ी निंदा करते हैं। इसके साथ ही DMA ने सर गंगाराम अस्पताल के खिलाफ दर्ज किए गए एफआईआर की भी निंदा की है।

raja moter

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.