Logo
ब्रेकिंग
Bjp प्रत्याशी ढुल्लु महतो के समर्थन में विधायक सरयू राय के विरुद्ध गोलबंद हूआ झारखंड वैश्य समाज l हजारीबाग लोकसभा इंडिया प्रत्याशी जेपी पटेल ने किया मां छिनमस्तिका की पूजा अर्चना l गांजा तस्कर के साथ मोटासाइकिल चोर को रामगढ़ पुलिस ने किया गिरफ्तार स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार

इस साल 15 दिन ही चलेगी अमरनाथ यात्रा, पहली बार आरती का होगा लाइव टेलीकास्ट

बाबा बर्फानी के पावन दर्शनों को इंतजार कर रहे भक्तों के लिए बड़ी खबर है। अमरनाथ यात्रा की शुरुआत 21 जुलाई से होने जा रही है। हलांकि कोरोना वायरस महामारी के चलते इस बार यात्रा की अवधि में कटौती की गई है और यह अब सिर्फ 15 दिन ( 21 जुलाई से 3 अगस्त) तक ही चलेगी। पहली बार गुफा में की जाने वाली ‘आरती’ का सीधा प्रसारण किया जाएगा।

अमरनाथजी श्राइन बोर्ड (एसएएसबी) के अधिकारियों द्वारा जारी किए गए दिशा निर्देश इस प्रकार हैं:-

  • साधुओं को छोड़कर अन्य तीर्थयात्रियों में 55 वर्ष से कम उम्र के लोगों को ही अनुमति दी जाएगी।
  • यात्रा करने वाले सभी लोगों का कोरोना की जांच करवाना अनिवार्य है, इसके बाद ही इन्हे यात्रा शुरू करने की इजाजत दी जाएगी।
  • सभी तीर्थयात्रियों को यात्रा के लिए ऑनलाइन पंजीकरण करना होगा।
  • इन 15 दिनों के दौरान सुबह और शाम गुफा मंदिर में की जाने वाली ‘आरती’ का देश भर के भक्तों के लिए सीधा प्रसारण किया जाएगा।

बालटाल मार्ग से होकर निकलेगी यात्रा

  • स्थानीय मजदूरों की कमी और बेस कैंप से गुफा मंदिर तक ट्रैक में कठिनाइयों के चलते हेलिकॉप्‍टर का उपयोग होगा
  • यात्रा केवल उत्तरी कश्मीर बालटाल मार्ग से होकर निकलेगी।
  • इस वर्ष किसी भी तीर्थयात्री को पहलगाम मार्ग के माध्यम से यात्रा करने की अनुमति नहीं दी जाएगी।
  • यात्रा 2020 का समापन 3 अगस्त को श्रावण पूर्णिमा पर होगा जिस दिन रक्षा बंधन का त्योहार होता है।

बता दें कि पिछले साल सरकार ने सुरक्षा खतरे को देखते हुए यात्रा रद्द कर दी थी। सरकार ने एक एडवाइजरी जारी की थी जिसमें कहा गया था कि 3 अगस्त को पर्यटकों और पर्यटकों को कश्मीर छोड़ना होगा। 5 अगस्त 2019 को कश्मीर को धारा 370 के निरस्त होने के बाद इसे बंद कर दिया गया था।