Logo
ब्रेकिंग
रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न । रामगढ़ एसपी ने पांच पुलिस निरीक्षकों को किया पदस्थापित रामगढ़ में एक डीलर और 11 अवैध राशन कार्डधारियों को नोटिस जारी पुलिस अधीक्षक के कार्रवाई से पुलिस महकमा में हड़कंप, चार पुलिस कर्मी Suspend रामगढ़ छावनी फुटबॉल मैदान में लगा हस्तशिल्प मेला अब सिर्फ 06फ़रवरी तक l असामाजिक तत्वों ने देवी देवताओं की मूर्ति को किया क्षतिग्रस्त, गुस्साए ग्रामीणों ने किया सड़क जाम l

माता वैष्णो देवी मंदिर में कलश स्थापना के साथ वासंती नवरात्र अनुष्ठान शुरू

मंदिर परिसर को फूलों एवं विद्युत सज्जा कर आकर्षक बनाया गया है

रामगढ़ : शहर के झंडा चौक स्थित माता वैष्णो देवी मंदिर में मंगलवार को वासंती नवरात्र कलश स्थापना के साथ शुरू हुआ। मंदिर के पुजारी पंडित लीलाधर शर्मा ने नवरात्र अनुष्ठान के यजमान पंजाबी हिंदू बिरादरी के उपाध्यक्ष मनजीत साहनी व उनकी पत्नी नीरू साहनी से कलश स्थापना कराने के बाद विधिवत पूजन आरंभ किया। नौ दिवसीय इस नवरात्र अनुष्ठान के अवसर पर माता वैष्णो देवी मंदिर सहित पूरे मंदिर परिसर को फूलों एवं विद्युत सज्जा कर आकर्षक बनाया गया है।

कोरोना महामारी के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग व सरकार की गाइडलाइन का पालन करते हुए भक्तों को माता का दर्शन कराया जा रहा है

कोरोना महामारी के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए पंजाबी हिन्दू बिरादरी के पदाधिकारियों ने सोशल डिस्टेंसिंग व सरकार की गाइडलाइन का पालन करते हुए भक्तों को माता का दर्शन कराया जा रहा है। पंजाबी हिंदू बिरादरी व माता वैष्णो देवी मंदिर ट्रस्ट के महासचिव महेश मारवाह ने बताया कि माता के भक्तों को किसी प्रकार की असुविधा ना हो इसके लिए बिरादरी के पदाधिकारियों ने भक्तों की सुविधा हेतु व्यापक प्रबंध किए हैं। श्री मारवाह ने बताया कि कोरोना महामारी को देखते हुए 19 अप्रैल को होने वाले माता की चौकी व 21 अप्रैल का भंडारा कार्यक्रम रद्द कर दिया गया है। 20 अप्रैल को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए हवन एवं कंजक पूजन किया जाएगा।