केरल में गर्भवती हथिनी की मौत मामले में पुलिस के हाथ लगी बड़ी सफलता, एक आरोपी गिरफ्तार

तिरुवनंतपुरम: केरल में एक गर्भवती हथिनी की मौत के मामले में पुलिस को बड़ा सफलता हाथ लगी है।गर्भवती जंगली हथिनी की मौत के मामले में एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है। राज्य वन विभाग ने ट्वीट किया, ‘‘ केएफडी (केरल वन विभाग) ने हथिनी की मौत मामले में एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है।’’ इस घटना की देशभर में व्यापक स्तर पर आलोचना की गई थी। वन विभाग के सूत्रों ने बृहस्पतिवार को बताया था कि हथिनी की मौत की घटना के संबंध में तीन संदिग्धों से पूछताछ की जा रही है और दो अन्य संदिग्धों की तलाश की जा रही है। ऐसा संदेह है कि 15 वर्षीय हथिनी ने पटाखों से भरा अन्नानास खा लिया जो उसके मुंह में फट गया, जिसके एक सप्ताह बाद 27 मई को वेलियार नदी में उसकी मौत हो गई।

PunjabKesari

जांच टीमों की नजर तीन संदिग्धों पर: मुख्यमंत्री
इससे पहले केरल में एक गर्भवती हथिनी की मौत के मामले में मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने बृहस्पतिवार को कहा था कि जांच टीमों की नजर तीन संदिग्धों पर है। उन्होंने यह भी कहा कि केंद्रीय मंत्रियों सहित कुछ लोग घटना का इस्तेमाल राज्य की छवि खराब करने के लिए कर रहे हैं। विजयन ने कहा कि घटना में दोषी पाए जाने वाले लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि घटना की जांच कर रही केरल पुलिस और वन विभाग की अपराध शाखा की टीम ने घटनास्थल का दौरा किया और सबूत जुटाए। न्याय काम करेगा और दोषियों को सजा मिलेगी। वन विभाग के सूत्रों ने पीटीआई-भाषा को बताया कि 27 मई को हथिनी की मौत की घटना के संबंध में तीन संदिग्धों से पूछताछ की जा रही है और दो अन्य संदिग्धों की तलाश की जा रही है। राज्य के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने ट्विटर पर घटना को लेकर रोष जताया और कहा कि केरल और बाहर से हजारों याचिकाएं दायर की जा चुकी हैं और दिल दहला देने वाली इस घटना से उत्पन्न रोष को समझा जा सकता है।

सोशल मीडिया पर लोग जता रहे हैं गुस्सा
सोशल मीडिया पर घटना को लेकर लोग गुस्सा जता रहे हैं और दोषियों को कड़ा दंड देने की मांग कर रहे हैं। संदेह है कि 15 वर्षीय हथिनी ने पटाखों से भरा अनानास खा लिया जो उसके मुंह में फट गया और एक सप्ताह बाद वेलियार नदी में उसकी मौत हो गई। सोशल मीडिया पर आक्रोश और घटना पर केंद्र के गंभीर चिंता जताए जाने के बीच विजयन का कड़ी कार्रवाई करने का आश्वासन आया है। केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि पटाखा खिलाकर हत्या करना भारत की संस्कृति में नहीं है और सरकार दोषियों को न्याय के कठघरे में लाने में कोई कोर कसर बाकी नहीं छोड़ेगी। उन्होंने एक ट्वीट में कहा कि केरल के मलप्पुरम में हथिनी के मारे जाने का केंद्र ने गंभीर संज्ञान लिया है। पटाखा खिलाना और हत्या करना भारत की संस्कृति में नहीं है।भाजपा सांसद एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी ने ट्वीट किया कि मलप्पुरम अपनी आपराधिक गतिविधियों के लिए जाना जाता है, खासकर जानवरों के प्रति अपराधों को लेकर। विजयन ने कहा कि केरल और मलप्पुरम जिले के खिलाफ राष्ट्रीय स्तर पर च्च्संगठित अभियानज्ज् चलाया जा रहा है तथा राज्य को बदनाम करने की कोशिश की जा रही है। यहां तक कि केंद्रीय मंत्री भी इसमें शामिल हैं।

Whats App