केरल में गर्भवती हथिनी की मौत का मामला- तीन संदिग्धों से पूछताछ जारी

तिरुअनंतपुरम। केरल में पटाखों से भरा अनानास खाने के कारण जान गंवाने वाली गर्भवती हथिनी के मामले में तीन संदिग्धों से पूछताछ की गई है। दो अन्य की तलाश हो रही है। वन विभाग के सूत्रों ने गुरुवार को यह जानकारी दी। वहीं राज्य के मुख्यमंत्री पी विजयन ने इस मामले में कुछ केंद्रीय मंत्रियों और नेताओं पर केरल की छवि खराब करने का आरोप लगाया।केरल के साइलेंट वैली नेशनल पार्क की एक गर्भवती हथिनी को कुछ लोगों ने पटाखों से भरा अनानास खिला दिया था।

अनानास चबाते ही उसमें हुए विस्फोट से हथिनी का जबड़ा बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया था। हफ्तेभर बाद 27 मई को मलप्पुरम में वेल्लियार नदी में हथिनी की मौत हो गई थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पता चला कि हथिनी गर्भवती थी। मामला सामने आते ही लोगों में रोष फैल गया। हर ओर से दोषियों को सख्त सजा की आवाज उठ रही है। केरल सरकार ने जांच के लिए वन विभाग की विशेष जांच टीम गठित की है। वन विभाग ने ट्वीट कर कहा, ‘हथिनी की मौत के मामले में वन्यजीव संरक्षण कानून की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। कई संदिग्धों से पूछताछ की जा रही है।

विशेष जांच दल का गठन किया गया है। दोषियों को सजा दिलाने में वन विभाग कोई कसर नहीं छोड़ेगा।’हर तरफ से घटना की निंदा के बाद केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन ने बुधवार को कहा था कि कोझिकोड से वन्यजीव अपराध जांच दल को मामले की पड़ताल की जिम्मेदारी दी गई है। उन्होंने भरोसा दिलाया है कि दोषियों को हर हाल में सजा होगी। केरल के राज्यपाल आरिफ मुहम्मद खान ने भी घटना पर दुख जताया है। इस घटना पर दुनियाभर से लोग न्याय की मांग कर रहे हैं। वेबसाइट चेंज डॉट ओआरजी पर 24 घंटे में 927 लोगों ने पिटीशन डाली है। दोषियों को कड़ी सजा दिलाने की मांग के साथ 13 लाख से ज्यादा लोगों ने इन पिटीशन को समर्थन दिया है।

डूबने से हुई मौत

पोस्टमार्टम की प्राथमिक रिपोर्ट के मुताबिक नदी में डूबने और ज्यादा पानी शरीर में जाने के कारण हथिनी के फेफड़े ने काम करना बंद कर दिया था। रिपोर्ट में यह भी पुष्टि हुई है कि मुंह में धमाके के कारण जबड़ा क्षतिग्रस्त हो गया था। असहनीय दर्द के कारण वह कुछ भी खाने-पीने में असमर्थ थी। अत्यधिक कमजोरी के बाद हथिनी नदी में चली गई और वहां डूबने से उसकी मौत हो गई।

नफरत फैलाने की हो रही कोशिश : अहमद पटेल

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने कुछ लोगों पर इस घटना के बहाने नफरत फैलाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, ‘देश में माहौल इतना खराब हो गया है कि हथिनी की दुखद मौत में भी कुछ लोग तथ्यों को गलत तरीके से पेश कर समुदायों के बीच नफरत फैलाने की कोशिश कर रहे हैं।’

Whats App