पूर्वी चम्पारण में कोरोना वायरस को लेकर होली के पर्व में बाजारों में मंदी।

रंग अबीर दुकानदारों में मयूषी।

News lens:मोतिहारी, कोरोना वायरस के कारण दुनिया भर में असमय मौत की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है।जिसके कारण पूरी दुनिया दहशत के साये में जी रही है। वहीं, कोरोना वायरस ने अब छोटे बड़े बाजारों को भी प्रभावित करना शुरु कर दिया है। पूर्वी चंपारण जिले में भी कोरोना वायरस के दहशत रंगों का पर्व होली के बाजार को भी प्रभावित कर रखा है।

वहीं रंग अबीर बाजारों की गलियां सुनी है और दुकानों पर ग्राहकों की आवक कम है। यहां तरह-तरह के पिचकारी और मुखौटा के अलावा होली के अन्य सामानों की बिक्री काफी प्रभावित है। दुकानदारों की माने तो कोरोना वायरस के डर से लोग चाईनीज पिचकारी तो छुना नहीं चाहते है, जबकि लोकल पिचकारी भी खरीदने से लोग कतरा रहे हैं। कोरोना वायरस के कारण होली के अवसर पर कारोबार प्रभावित होने से जिले का चैंबर ऑफ कॉमर्स भी चिंतित है। होली के पिचकारी और अन्य सामानों में पैसा लगा चुके दुकानदार राजेन्द्र प्रसाद ने बताया कि कोरोना वायरस के कारण लोग बाजार में खरीददारी करने नहीं आ रहे है।

राजेंद्र प्रसाद के अनुसार उनलोगों ने होली के सामान में काफी पूंजी लगा दिया है, लेकिन बिक्री नहीं होने से उनलोगों को अपनी पूंजी फंसने का डर सता रहा है। कोरोना वायरस के कारण होली का कारोबार प्रभावित होने से चैंबर ऑफ कॉमर्स भी चिंतिंत है। सुरेन्द्र के अनुसार अगर लोगों में कोरोना से दहशत की यही स्थिति रही, तो व्यवसायियों का व्यवसाय चौपट हो जाएगा।

Whats App