Logo
ब्रेकिंग
रामगढ़ की बेटी महिमा को पत्रकारिता में अच्छा प्रदर्शन के लिए किया गया सम्मानित Bjp प्रत्याशी ढुल्लु महतो के समर्थन में विधायक सरयू राय के विरुद्ध गोलबंद हूआ झारखंड वैश्य समाज l हजारीबाग लोकसभा इंडिया प्रत्याशी जेपी पटेल ने किया मां छिनमस्तिका की पूजा अर्चना l गांजा तस्कर के साथ मोटासाइकिल चोर को रामगढ़ पुलिस ने किया गिरफ्तार स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l

चीन ने कोरोना वायरस की वैक्सीन कर ली तैयार, मेजर जनरल को लगाया पहला इंजेक्शन

बीजिंगः चीन में तबाही मचाने वाला कोरोना वायरस देखते ही देखते अब लगभग पूरी दुनिया में फैल चुका है। चीन में इस वायरस ने लगभग 300 से भी ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है व 80,000 लोग संक्रमित है। अब चीन ने इस बात का दावा किया है कि उसने कोरोना वायरस (कोविड-19) से बचने के लिए एक वैक्सीन खोज निकाली है। चीन की सेना की मेडिकल टीम बीते एक महीने से वुहान में पीपुल्स लिबरेशन ऑर्मी की मेडिकल विशेषज्ञ शेन वेई की लीडरशिप में यह वैक्सीन तैयार की गई है। दुनिया के पहले नए कोरोना वायरस वैक्सीन का टेस्ट  आविष्कारक शेन वेई के बाएं हाथ में वैक्सीन को इंजेक्ट  करके किया गया। शेन वेई चीनी सेना की वही मेजर जनरल हैं जिन्होंने कुछ साल पहले सार्स (SARS) और इबोला जैसे खतरनाक वायरस से बचने की वैक्सीन बनाई थी और पूरी दुनिया को उनके खतरों से बचाया था।

दिन-रात की मेहनत के बाद तैयार हुई वैक्सीन: शेन वेई
चीनी ऑर्मी की मेजर जनरल शेन (58) ने चीनी मीडिया को बताया कि उनकी टीम ने किस तरह से रातों दिन एक करके इस कल्याणकारी वैक्सीन का निर्माण किया है। बता दें कि यह पहला मौका नहीं है जब चीन की इस मेडिकल टीम ने किसी बड़ी महामारी के इलाज के लिए ऐसा काम किया हो। इसके पहले साल 2002 में सार्स फैलने के दौरान और साल 2014 में इबोला वायरस से निपटने के लिए शेन की इस टीम ने कई मेडिसिनस और वैक्सीन का निर्माण किया था। शेन और उनकी टीम ने मिलकर मिलिट्री मेडिकल साइंस अकादमी ने ऐसे खतरनाक वायरस से बचने के लिए वायरस की जांच के लिए किट तैयार की थी।

PunjabKesari

लगभग 600 लोगों की टीम करती है काम
बहुत कम लोगों को मालूम होगा कि यह चीन की एक बहुत प्रतिष्ठित अकादमी है जिसमें 26 विशेषज्ञ हैं और 50 से भी ज्यादा वैज्ञानिक इनके अलावा इस टीम में 500 से भी ज्यादा अनुभवी लोग शामिल हैं जो अलग-अलग कामों के लिए जाने जाते हैं। चीन ने वैक्सीन के निर्माण के बाद इस बात का भी दावा किया है कि जल्दी ही यह वैक्सीन आम लोगों के लिए भी उपलब्ध करवाई जाएगी जिससे कोरोना के आतंक को आसानी से निपटाया जा सकेगा।

PunjabKesari

सोशल मीडिया में खुशी की लहर
कोरोना वायरस की वैक्सीन तलाश लेने की खबर फैलते ही चीन की सोशल मीडिया में खुशी की लहर दौड़ गई और लोगों ने इसकी कामयाबी के बारे में ढेर सारे संदेश पोस्ट किए। शेन ने एक इंटरव्यू में कहा कि वैसे तो दुनिया भर के वैज्ञानिक कोरोना वायरस के वैक्सीन बनाने की कोशिश में लगे हैं, खुद अमेरिकी राषट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने भी जनवरी में दावा किया था कि कुछ महीनों में यह वैक्सीन आ जाएगी। लेकिन एक महीने की कड़ी मेहनत के दौरान ही यह कामयाबी मिल गई, यह बेशक हमारे लिए बेहद राहत की बात है। हमें पूरा भरोसा है कि अब हम जल्द से जल्द कोरोना से अपनी जंग जीत लेंगे।