Logo
ब्रेकिंग
आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न । रामगढ़ एसपी ने पांच पुलिस निरीक्षकों को किया पदस्थापित रामगढ़ में एक डीलर और 11 अवैध राशन कार्डधारियों को नोटिस जारी

कोरोना से चीन में मचा हाहाकार, अंतिम संस्कार के लिए लोगों को करना पड़ रहा इंतजार

कोरोना से चीन में मचा हाहाकार, अंतिम संस्कार के लिए लोगों को करना पड़ रहा इंतजार

न दवा न अस्पतालों में जगह, अस्पतालों में भर्ती के लिए लग रही लंबी लाइन

चाईना (चीन) में जीरो कोविड पॉलिसी हटने के बाद एक बार फिर से कोरोना ने हाहाकार मचा दिया है. चीन में कोरोना के इतने अधिक मामले सामने आ रही है कि अस्पतालों में भर्ती होने के लिए लोगों को लंबी कतारों में खड़े होने पड़ रहे है. मरीजों को अस्पताल में भर्ती होने के बाद भी उन्हें बेड नहीं मिल रहा है. यानी देश में कोरोना को लेकर स्थिति नियंत्रण से बाहर होता दिख रहा है. चीन में अचानक हुए कोरोना विस्फोट ने भारत की चिंता बढ़ा दी है. आपको बता दें, जब पहली बार कोरोना वायरस सामने आया था तो यह चीन के बाद ही पूरे विश्व भर के सभी देशों में फैल गया था.

जीरो-कोविड पॉलिसी खत्म होने के बाद बढ़े मामले

बता दें, चीन की सरकार शी जिनपिंग ने कोविड-19 को लेकर पूरे देश में जीरो कोविड पॉलिसी को देश में तमाम विरोधों के बाद समाप्त कर दिया था. जिसके बाद देश में काफी तेजी से कोरोना केस में इजाफा हुआ है. रिपोर्ट के मुताबिक, चीन के उत्तर से लेकर दक्षिण तक फैले शहरों में कोरोना का ग्राफ लगातार बढ़ता ही जा रहा है. एक्सपर्ट्स का कहना है कि चीन में जीरो-कोविड पॉलिसी खत्म होने के बाद अचानक से बढ़े मामलों की वजह नया वैरिएंट भी हो सकता है. जिसका नाम BA.5.2.1.7 है. साइंटिस्ट्स इसे BF.7 भी कह रहे हैं. एक्सपर्ट्स के मुताबिक यह ओमिक्रॉन का सबसे खतरनाक म्यूटेशन है.


साल 2023 में होगा कोरोना का विस्फोट।

देश में हालात इतनी बुरी है कि अस्पतालों में डॉकटर्स और नर्सिंग स्टाफ की कमी के साथ लोगों को दवा भी नहीं मिल रही है. लोग लंबी-लंबी कतार में खड़े होकर अस्पताल में इंट्री करने का इंतजार कर रहे है. प्रतिदिन लोग संक्रमण की चपेट में आकर मौत के मुंह में जा रहे है. रिपोर्ट के मुताबिक, मरने के बाद शवों को अंतिम संस्कार करने तक के लिए लोगों को इंतजार करना पड़ रहा है. आपको बता दें, विशेषज्ञों की माने तो चीन में अगले साल 2023 में कोरोना का महाविस्फोट हो सकता है. जिससे लाखों लोगों की मौत हो सकती है. कहा जा रहा है कि चीन में कोरोना का फिर से विस्फोट होने का मुख्य कारण वहां के लोगों का टीकाकरण नहीं लेना है. क्योंकि चाइना में बड़े तादाद पर लोगों को कोविड के टीके नहीं दिए गए थे. बुजुर्ग आबादी में तो कई लोगों ने कोरोना वैक्सीन भी नहीं लगवाई है. चाईना की एक सरकारी न्यूज एजेंसी के मुताबिक, देश में अब तक 60 साल से ऊपर के करीब 87% आबादी पूरी तरह वैक्सीनेट हो गई है, जबकि 80 साल से ज्यादा उम्र के सिर्फ 66.4% बुजुर्गों को ही वैक्सीन लगी है.

जानें अन्य कई देशों में कोरोना के आंकड़े कहां कितना है कोरोना ।

रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले 7 दिनों में दुनियाभर में कोरोना के करीब 3,632,109 केस सामने आए हैं. जिसमें सबसे अधिक 1055578 केस जापान में मिले हैं. दक्षिण कोरिया में 460,766 केस, फ्रांस में 384184, ब्राजील में 284,200, अमेरिका में 272,075, जर्मनी में 223,227, हॉन्गकॉन्ग में 108577, चीन के पड़ोसी ताइवान में 107381 केस मिले हैं. वहीं पिछले 24 घंटे में जापान में 180, फ्रांस में 178, जर्मनी में 161, अमेरिका में 140 और ब्राजील में 140 लोगों की मौत हुई है. भारत की बात करें तो पिछले 7 दिन में यहां 1,081 मामले सामने आए हैं.