Logo
ब्रेकिंग
आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न । रामगढ़ एसपी ने पांच पुलिस निरीक्षकों को किया पदस्थापित रामगढ़ में एक डीलर और 11 अवैध राशन कार्डधारियों को नोटिस जारी

Dumka नाबालिक बच्ची से दुष्कर्म व हत्या मामले में तीन आरोपियों को फांसी की सजा

Dumka:दुमका जिले के रामगढ़ में मासूम बच्ची से सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या मामले में स्थानीय न्यायालय ने आज फांसी की सजा सुनाई है। दुमका पॉस्को कोर्ट ने तीन दिनों तक इस मामले की लगातार सुनावाई की। इतना ही नहीं सोमवार को तो कोर्ट देर रात तक बैठकर सुनवाई पूरी की । पहले तीनों को दोषी करार दिया गया। फिर कोर्ट ने फांसी की सजा सुना दी।

बता दें कि यह घटना 5 फरवरी 2020 को घटी थी। इस मामले में 27 फरवरी को न्यायालय में आरोप गठन किया गया। इसके बाद सुनवाई शुरू हुई। तीन दिन की सुनवाई के बाद न्यायालय ने आरोपियों को दोषी करार दिया। तीनों को फांसी की सजा सुनाई गई है। घटना के 28 दिनों के अंदर ही दोषियों को सजा सुनाई गई।

6 साल की बच्ची से दुष्कर्म व हत्या मामले में तीन को फांसी, 3 दिनों की सुनवाई के बाद कोर्ट का फैसला आया।  दुमका जिले के रामगढ़ में छह वर्ष की मासूम बच्ची से सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या मामले में स्थानीय न्यायालय ने फांसी की सजा सुनाई है। दुमका पॉस्को कोर्ट ने तीन दिनों तक इस मामले की लगातार सुनावाई की। इतना ही नहीं सोमवार को तो कोर्ट ने देर रात तक बैठकर सुनवाई पूरी की।
पहले तीनों को दोषी करार दिया गया। फिर कोर्ट ने फांसी की सजा सुना दी।

दुमका पॉक्सो कोर्ट ने गैंगरेप और हत्या के मामले में तीनों अभियुक्तों मीठू राय, पंकज मोहली और अशोक राय को अपहरण, गैंगरेप और हत्या के मामले में दोषी करार दिया और कोर्ट ने फांसी की सजा सुनाई। रामगढ़ में पांच फरवरी को छ: साल की मासूम बच्ची के साथ रिश्ते के एक चाचा व उसके दो साथियों ने सामूहिक दुष्कर्म कर उस माशूम की हत्या कर दी थी। इस मामले पर पूरे देश की नजर बनी हुई थी । महज तीन दिनों में प्रथम जिला एवं सत्र न्यायाधीश तौफीकुल हसन की अदालत ने 16 गवाहों की गवाही सुनी और इस मामले में न्यायाधीश ने सभी आरोपियों को दोषी करार दिया और फांसी की सजा सुनाई।