Logo
ब्रेकिंग
Bjp प्रत्याशी ढुल्लु महतो के समर्थन में विधायक सरयू राय के विरुद्ध गोलबंद हूआ झारखंड वैश्य समाज l हजारीबाग लोकसभा इंडिया प्रत्याशी जेपी पटेल ने किया मां छिनमस्तिका की पूजा अर्चना l गांजा तस्कर के साथ मोटासाइकिल चोर को रामगढ़ पुलिस ने किया गिरफ्तार स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार

विदेशों तक पहुंची दिल्ली हिंसा की गूंजः 18 देशों में भाजपा विरोधी प्रदर्शन, मांगा शाह का इस्तीफा

लंदनः दिल्ली हिंसा की गूंज अब विदेशों में भी सुनी जा रही है। ब्रिटेन की राजधानी लंदन व फ्रांस की राजधानी पेरिस सहित 18 यूरोपीय देशों में लोगों ने भाजपा व CAA  के खिलाफ प्रदर्शन किया और इस हिंसा के लिए भाजपा और गृह मंत्री अमित शाह को जिम्मेदार ठहराया। साउथ एशिया सॉलिडरिटी ग्रुप नाम की संस्था ने लंदन में कहा कि इस हिंसा की जिम्मेदारी लेते हुए गृह मंत्री अमित शाह को इस्तीफा दे देना चाहिए। लोगों ने भड़काऊ भाषण देने के आरोपी भाजपा नेताओं की गिरफ्तारी की मांग की है।

शनिवार को हुए इस प्रदर्शन में प्रदर्शनकारियों ने ब्रिटेन की सरकार से मांग की कि वो दिल्ली हिंसा के लिए नरेंद्र मोदी सरकार की सख्त आलोचना करें। इन लोगों ने आरोप लगाया कि नरेंद्र मोदी सरकार ने मुसलमानों के खिलाफ हिंसा को प्रायोजित किया। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि अमित शाह बतौर गृह मंत्री अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन करने में पूरी तरह से फेल हुए हैं, और उन्हें इस्तीफा देना चाहिए।

प्रदर्शनकारियों ने भाजपा नेता कपिल मिश्रा, अनुराग ठाकुर, प्रवेश सिंह वर्मा समेत कई और नेताओं की गिरफ्तारी की मांग की है और कहा है कि इनके खिलाफ मुकदमा चलाया जाना चाहिए। प्रदर्शनकारियों की मांग है कि हिंसा में घायल लोगों का बेहतर इलाज कराया जाना चाहिए और हिंसा में हुए नुकसान की भरपाई की जानी चाहिए। साउथ एशिया सॉलिडरिटी ग्रुप से जुड़ीं निर्मला राजसिंघम ने कहा कि वे लोग दिल्ली हिंसा के पीड़ितों के साथ खड़े हैं और CAA के खिलाफ चल रहे आंदोलन का समर्थन करते हैं।राजसिंघम ने कहा कि दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार को अपना संवैधानिक कर्तव्य निभाना चाहिए ।