Logo
ब्रेकिंग
माता वैष्णों देवी मंदिर का 32वां वार्षिकोत्सव भंडारा के साथ संपन्न युवक ने प्रेमिका के लवर को उतारा मौत के घाट, वारदात को अंजाम देकर कुएं में फेंकी लाश । 1932 खतियान राज्यपाल ने किया वापस, झामुमो में आक्रोश, किया विरोध, फूंका प्रधानमंत्री का पुतला । रामगढ़ विधानसभा उपनिर्वाचन 2023 के मद्देनजर उपायुक्त ने की प्रेस वार्ता कराटे बेल्ट ग्रेडेशन टेस्ट सह प्रशिक्षण शिविर में 150 कराटेकार शामिल, उत्कृष्ट प्रदर्शनकारी को मिला ... श्रीराम सेना के विशाल हिंदू सम्मेलन में राष्ट्रवादी प्रखर प्रवक्ता पुष्पेंद्र कुलश्रेष्ठ और अंतरराष्... भव्य कलश यात्रा के साथ माता वैष्णों देवी मंदिर का 32वां वार्षिकोत्सव शुरू रामगढ़ में मनाया गया 74 वां गणतंत्र दिवस, विभिन्न कार्यालयों द्वारा निकाली गई झांकी माँ की ममता से दूर जेल में बंद पूर्व विधायक मामता देवी का दूधमुहा बच्चा बीमारी की गिरफ्त में । माता वैष्णों देवी मंदिर के 32वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 26 को

गढ़वा में हाथियों का कहर, तीन घरों को ध्वस्त किया; दीवार के नीचे दबने से किशोर की मौत

गढ़वा। गढ़वा जिले के भंडरिया थाना क्षेत्र के रोदो गांव में शनिवार की रात जंगली हाथियों के झुंड ने उत्पात मचाते हुए तीन ग्रामीणों के मिट्टी के घरों को ध्वस्त कर दिया। इस घटना में धनपत सिंह के 13 वर्षीय पुत्र रिशु सिंह की मौत हो गई। घटना के समय वह सो रहा था। हाथियों द्वारा घरों के ध्वस्त किए जाने से दीवार ढह गई और दीवार के नीचे दब जाने से रिशु की मौत हो गई।

हाथी करीब एक घंटे तक गांव में उत्पात मचाते रहे। इस दौरान ग्रामीण डरे-सहमे रहे। ग्रामीणों ने हिम्मत कर एक साथ टीन बजाना शुरू किया। इसके बाद हाथी जंगल की ओर भागे। इसके बाद ग्रामीणों ने राहत की सांस ली। इस घटना से आक्रोशित ग्रामीणों ने रविवार की सुबह रिशु सिंह के शव के साथ भंडरिया-मेदिनीनगर मुख्य सड़क को जाम कर दिया। जाम के कारण सड़क के दोनों ओर वाहनों की लंबी कतार लग गई।

इसकी सूचना मिलने के बाद भंडरिया के वनकर्मी, थाना के सब इंस्पेक्टर सूर्यप्रकाश दुबे के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। इस दौरान वन कर्मियों को ग्रामीणों के आक्रोश का सामना करना पड़ा। वन कर्मियों ने इसकी सूचना दक्षिणी वन प्रमंडल पदाधिकारी अभिरूप सिन्हा को दी। सूचना के आलोक में डीएफओ मौके पर पहुंच कर ग्रामीणों को समझाने में जुटे हुए हैं। लेकिन ग्रामीण मृतक के परिजन को मुआवजा देने तथा हाथियों को इस क्षेत्र से भगाने के लिए ठोस कार्रवाई की मांग पर अड़े हुए हैं।

nanhe kadam hide