तुर्की के ड्रोन हमले में 26 सीरियाई सैनिकों की मौत, अंकारा ने लिया बदला

yamaha

दमिश्‍क। तुर्की की सेनाओं ने उत्‍तर-पश्चिमी प्रांत इदलिब में सीरियाई बलों के ठिकानों पर ड्रोन हमलों को अंजाम दिया है। इसमे हमले में 26 सीरियाई सैनिक मारे गए हैं। बता दें कि इदलिब में एक हवाई हमले में तुर्की की 33 सैनिकों की मौत के बाद उसने यह कदम उठाया है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार तुर्की के ड्रोनों ने शनिवार को इदलिब में सीरियाई सरकारी बलों और वाहनों को निशाना बनाया। सीरियाई बलों पर तुर्की के हमलों में वृद्धि गुरुवार को 34 तुर्की सैनिकों को मारने के बाद हमले में तेजी आई है। इस हमले के लिए सीरियाई सरकारी बलों पर दोषी ठहराया गया था। ब्रिटेन स्थित सीरियन ऑब्जर्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स ने कहा कि तुर्की के ड्रोन ने 18 सीरियाई वाहनों को भी नष्ट कर दिया है।बता दें कि तुर्की समर्थित विद्रोहियों ने पिछले चार दिनों में 14 गांवों और कस्बों पर कब्जा कर लिया है, जिसमें रणनीतिक शहर साराकेब भी शामिल है।

फरवरी के बाद 8,000 तुर्की सैनिकों का सीरिया में प्रवेश  

फरवरी के बाद से लगभग 3,000 सैन्य वाहनों और 8,000 तुर्की सैनिकों ने सीरिया के क्षेत्रों में प्रवेश किया है। पिछले दो दिनों में कई तुर्की सैन्य वाहनों और सैनिकों ने सीरिया में प्रवेश किया, क्योंकि तुर्की सैनिकों को तुर्की से हटने के लिए दी गई तुर्की समय सीमा 29 फरवरी है।

विद्रोहियों के कब्ज़े से इदलिब पर सीरिया की नजर

बता दें कि सीरियाई सेना के एक हवाई हमले में कम से कम 33  तुर्की सैनिक मारे गए थे। तुर्की के अधिकारियों से मिली जानकारी के अनुसार ये हमला उत्तर पश्चिमी सीरिया में हुआ था। इदलिब फिलहाल विद्रोहियों के कब्ज़े में है और रूस के समर्थन वाली सीरियाई सेना विद्रोहियों के कब्ज़े से इदलिब को छुड़ाना चाहती हैं। बताया जा रहा है विद्रोहियों को तुर्की सेना का समर्थन प्राप्त है।

raja moter
Leave A Reply

Your email address will not be published.