Logo
ब्रेकिंग
स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न ।

अमेरिका में भारतीय युवक की गोली मार कर हत्या

लॉस एंजिलिसः अमेरिका के लॉस एंजिलिस में एक दुकान में भारतीय नागरिक मनिंदर सिंह साही की शनिवार तड़के गोली मार कर हत्या कर दी गई। स्थानीय पुलिस ने यह जानकारी दी। साही (31) विवाहित था और उसके दो बच्चे हैं। साही हरियाणा के करनाल का रहने वाला था। उसे अमेरिका आए छह माह भी नहीं हुए थे। उसने राजनीतिक शरण की मांग की थी। कैलिफोर्निया के लॉस एंजिलिस काउंटी के विट्टेयर सिटी स्थित 7-इलेवन ग्रॉसरी स्टोर में वह काम करता था। अमेरिका में उसके रिश्तेदारों ने बताया कि वह घर में एकमात्र कमाने वाला व्यक्ति था और पत्नी तथा बच्चों के लिए घर पर पैसे भेजता था।

विट्टेयर पुलिस विभाग के मुताबिक, घटना शनिवार को सुबह पांच बज कर करीब 43 मिनट पर हुई। प्रारंभिक तौर पर ऐसा प्रतीत हो रहा है कि संदिग्ध चोरी के इरादे से अर्ध स्वचालित हथियार के साथ दुकान में आया था। पुलिस ने संदिग्ध की तस्वीर जारी करते हुए कहा,‘‘ बिना किसी कारण के संदिग्ध ने पिस्तौल से गोली चलाई जिसमें क्लर्क की मौत हो गई।” पुलिस ने बताया,‘‘ संदिग्ध घटनास्थल से भाग गया और तब से फरार है।

स्टोर के अंदर दो ग्राहक थे, दोनों घायल हो गए हैं। संदिग्ध एक अश्वेत व्यक्ति था। उसका मुंह आंशिक तौर पर ढंका हुआ था।” साही के भाई ने पैसा इकट्ठा करने के लिए ‘गो-फंड पेज’ बनाया है ताकि मृतक के शव को स्वदेश भेजा जा सके। उसके भाई ने गो-फंड मी पेज में रविवार को लिखा, ‘‘ उसके परिवार में माता पिता, पत्नी तथा पांच और नौ साल के दो छोटे बच्चे हैं। मैं उनका शव स्वदेश भेजने के लिए मदद मांग रहा हूं ताकि उनकी पत्नी और बच्चे अंतिम बार उन्हें देख सकें।”