Coronavirus: कोरोना वायरस से पीड़ित चीन की तरफ भारत ने बढ़ाया मदद का हाथ

भारतीय अधिकारियों ने कहा कि चीन के लिए जरूरी सामानों की सूची पर काम किया जा रहा है और जैसे ही ये तैयार हो जाएगी

yamaha

बीजिंग। घातक कोरोना वायरस (Coronavirus) की गिरफ्त में फंसे चीन (China) के लिए भारत सरकार ने मदद का हाथ बढ़ाया है। भारत जल्द ही कोरोनो वायरस के प्रकोप से निपटने में चीन को चिकित्सा आपूर्ति (Medical Supplies) की खेप भेजेगा। चीन में भारत के राजदूत विक्रम मिश्री (Indian Ambassador Vikram Misri) ने रविवार को कहा कि महामारी के खिलाफ लड़ाई में भारत चीन के लोगों के साथ खड़ा है।

चीन में खतरनाक वायरस (COVID-19) की वजह से 142 नई मौतों के बाद मरने वालों का आंकड़ा बढ़कर 1665 हो गया है। चीन में सबसे अधिक लोग की मौत हुबेई प्रांत में हुई है।

विक्रम मिश्री ने कहा, ‘कोरोना प्रकोप से निपटने के लिए एक भारत जल्द ही चीन को चिकित्सा आपूर्ति की एक खेप भेजेगा। यह चीन और वहां के लोगों के साथ भारत सरकार की सद्भावना, एकजुटता और मित्रता को प्रदर्शित करेगा। उन्होंने कहा कि भारत इस कठिनाई के समय में चीन के लोगों की सहायता करने के लिए हर संभव प्रयास करेगा।

तैयार की जा रही जरूरी सामानों की सूची

भारतीय अधिकारियों ने कहा कि चीन के लिए जरूरी सामानों की सूची पर काम किया जा रहा है और जैसे ही ये तैयार हो जाएगी खेप को चीन भेज दिया जाएगा। इसके अलावा भारत ने चीनी आयातकों की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए कुछ चिकित्सा उपकरणों से प्रतिबंध हटा लिया है। वहीं, चीन ने कहा है कि उसे विशेष रूप से वायरस प्रभावित रोगियों की देखभाल करने वाले चिकित्सा कर्मचारियों के लिए मास्क, दस्ताने और सूट की आवश्यकता है। पिछले तीन हफ्तों में मास्क की मांग तेजी से बढ़ी है।

भारत चीन और वहां के लोगों के साथ

रविवार को चीनी मीडिया को जारी एक वीडियो संदेश में मिश्री ने कहा, ‘पिछले कुछ हफ्तों के दौरान पूरी दुनिया कोरोना वायरस के प्रकोप और इससे उत्पन्न गंभीर चुनौतियों का गवाह बनी है। मैं इस महामारी से निपटने में चीनी लोगों और सरकार को अपनी एकजुटता और समर्थन देना चाहता हूं। उन्होंने कहा कि हम उन लोगों और परिवारों के लिए खेद प्रकट करते हैं जो इस महामारी से प्रभावित हैं। मैं विशेष रूप से वुहान शहर और हुबेई प्रांत के लोगों के लिए अपना समर्थन व्यक्त करना चाहता हूं जो इस महामारी से सबसे अधिक प्रभावित हुए हैं। यहां के लोग भारत के लोगों के दिल में विशेष स्थान रखते हैं।

पीएम मोदी ने की थी मदद की पेशकश

गौरतलब है कि 9 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग को पत्र लिखकर कोरोना वायरस के प्रकोप से निपटने के लिए सहायता की पेशकश की थी। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने पीएम मोदी के प्रस्ताव की सराहना की।

raja moter
Leave A Reply

Your email address will not be published.