Logo
ब्रेकिंग
आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न । रामगढ़ एसपी ने पांच पुलिस निरीक्षकों को किया पदस्थापित रामगढ़ में एक डीलर और 11 अवैध राशन कार्डधारियों को नोटिस जारी

हजारीबाग डीसी का एक्शन मोड , चलवाया बुलडोजर, भूमि माफियाओं में मचा हड़कंप l

Hazaribagh : हजारीबाग में सरकारी जमीन पर कब्जा कर अवैध निर्मान करने वाले और खुद को दबंग समझने वाले भूमि माफियाओं के गुरुर को जिला प्रशासन कि एक्शन मोड टीम ने चकनाचूर कर दिया है l करीब 20 एकड़ सरकारी जमीन को कब्जे से मुक्त कराया गया है। डीसी नैंसी सहाय के कानों तक यह खबर पहुंची कि सदर अंचल के नवडीहा इलाके में भू-माफियओं ने अपना खूंटा मजबूत कर लिया है। अलग-अलग जगहों पर करीब 20 एकड़ जमीन पर अवैध तरीके से बाउंड्री कर लिया गया है।

कहीं-कहीं तो शेड डालकर कमरा तक बना लिया गया है। कोई भी कुछ पूछने या रोकने-टोकने की हिम्मत तक नहीं जुटा पाता था l डीसी ने मामले को काफी गंभीरता से लिया और कब्जा करने वाले लोगों का खूंटा उखाड़ फेंकने का हुक्म अधिकारियों को दिया। फिर क्या था जिलाधिकारी के आदेश के बाद स्पेशल एक्शन टीम ने नवडीहा इलाके में धावा बोला। फोर्स में महिला जवानों को भी शामिल किया गया था। वहीं मजिस्ट्रेट्स के तौर पर सदर सीओ शशि भूषण सिंह, इचाक सीओ मनोज कुमार महथा और कटकमसांडी सीओ अनिल कुमार को डिप्यूट किया गया था। इन अधिकारियों की मौजूदगी में सरकारी जमीन पर अतिक्रमण कर बनाये गये बाउंड्रीवाल और कमरे पर बुलडोजर चलाया गया। इस बीच पुलिस और जमीन पर कब्जा करने वाले लोगों के बीच नोक-झोंक भी हुई। हालांकि पुलिस प्रशासन के आगे किसी की एक न चाली l

सदर अंचल अधिकारी शशि भूषण ने इस संबंध में बताया कि पिछले कई दिनों से यह सूचना मिल रही थी सरकारी जमीन पर अवैध कब्जा किया जा रहा है. जांच में बात सच पाई गई और इसके बाद कार्रवाई करते हुए बुलडोजर चलवाकर जमीन को अतिक्रमणमुक्त कराया गया है. उन्होंने यह भी बताया कि प्रशासन के पहुंचने पर स्थानीय लोगों ने विरोध भी दर्ज कराया, लेकिन सरकारी जमीन पर निर्माण कार्य करना गैरकानूनी है. इस कारण यह कार्रवाई की गई है. उन्होंने कहा कि आगे भी किसी भी प्रकार की कोई अवैध अतिक्रमण हुई तो उन पर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी l