Logo
ब्रेकिंग
Income tax raid फर्नीचर व गद्दे में थीं नोटों की गड्डियां, यहां IT वालो को मिली अरबों की संपत्ति! बाइक चोरी करने वाले impossible गैंग का भंडाफोड़, पांच अपरा'धी गिरफ्तार।। रामगढ़ की बेटी महिमा को पत्रकारिता में अच्छा प्रदर्शन के लिए किया गया सम्मानित Bjp प्रत्याशी ढुल्लु महतो के समर्थन में विधायक सरयू राय के विरुद्ध गोलबंद हूआ झारखंड वैश्य समाज l हजारीबाग लोकसभा इंडिया प्रत्याशी जेपी पटेल ने किया मां छिनमस्तिका की पूजा अर्चना l गांजा तस्कर के साथ मोटासाइकिल चोर को रामगढ़ पुलिस ने किया गिरफ्तार स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l

रेलवे लाइन पर बिजली से चलने वाली ट्रेनों का दायरा बढ़ेगा, राष्ट्रीय रेल योजना 2030 का भी एलान

नई दिल्ली। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण आम बजट पेश कर रही हैं। इस दौरान 2021-21 के लिए उन्होंने रेलवे से जुड़े कई एलान किए हैं। सबसे पहले तो उन्होंने 1,10,055 करोड़ रुपये रेलवे के लिए आवंटित किए। इसके अलावा सीतारमण ने रेलवे के लिए रेल योजना 2030 के बारे में भी जानकारी दी। जिसका उद्देश्य मेक इन इंडिया को सक्षम करने के लिए उद्योग के लिए लॉजिस्टिक लागत में कमी लाना बताया गया।

वहीं, उन्होंने इस दौरान बताया कि बिजली से चलने वाली ट्रेनों के लिए दायरा बढ़ाया जाएगा। उन्होंने बजट भाषण में बताया कि 46 हजार किलोमीटर रेलवे लाइन पर ट्रेनें बिजली से दौड़ेंगी। इसके अलावा उन्होंने कहा कि एनआरपी (National Rail Plan) 2023 के ड्राफ्ट पर तेजी से काम किया जा रहा है। उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि देश में सिर्फ एक निर्माणाधीन बुलेट ट्रेन परियोजना है, जो मुंबई को अहमदाबाद से जोड़ेगी।

रेलवे बजट में उनकी बड़ी बातों में

-46 हजार किलोमीट की रेलवे लाइन पर ट्रेनें बिजली से दौड़ेंगी।

-पर्यटन वाले रेलवे ट्रैक पर नए और आधुनिक कोच लाए जाएंगे।

-चेन्नई मेट्रो के दूसरे चरण के लिए 63 हजार करोड़ आवंटित किए गए हैं।

-2030 तक नेशनल रेल प्लान तैयार हो सके, उसपर तेजी से काम।

बता दें कि 2017 से पहले आम बजट और रेलवे बजट अलग-अलग पेश किया जाता था, लेकिन अरुण जेटली पहले ऐसे वित्त मंत्री रहे, जिन्होंने आम बजट और रेलवे बजट को संयुक्त रूप से पेश किया। उन्होंने एक फरवरी 2017 को ऐसा किया था। साथ ही दोनों को अलग-अलग पेश ना करते हुए एक ही बजट के समान पेश करने से 92 साल की परंपरा खत्म हुई थी। वहीं, रेलवे बजट के आम बजट में विलय के बाद से कई बड़ी घोषणाएं हुई हैं। इनमें 550 स्टेशनों पर वाईफाई शुरू करने का ऐलान हुआ था। रेलवे ट्रैक के साथ सोलर पॉवर प्लांट लगाए जाने की बात कही गई थी।