Logo
ब्रेकिंग
स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न ।

बुर्का पहनने पर बैन लगे या नहीं, स्विट्जरलैंड के लोग करेंगे फैसला…7 मार्च को वोटिंग

यूरोपीय देश स्विट्जरलैंड (Switzerland) में इन दिनों बुर्के पर बहस चल रही है। दरअसल चर्चा है कि बुर्के को सार्वजनिक स्थानों (Public places) पर पहनने की छूट होनी चाहिए या नहीं और इस पर फैसला खुद वहां की जनता करेगी। इस बहस को समाधान के लिए अब जनमत संग्रह का सहारा लिया जा रहा है और 7 मार्च को इस पर वोटिंग होगी। वोटिंग के बाद जो रिजल्ट आएगा उसके आधार पर फैसला होगा कि महिलाएं सार्वजनिक स्थानों पर बुर्का पहनेंगी या नहीं। इतना ही नहीं देश के प्रत्यक्ष लोकतांत्रित सिस्टम में कुछ बदलावों को लेकर भी जनता से राय मांगी गई है इन पर भी 7 मार्च को ही वोटिंग होगी।

यह है मामला
स्विट्जरलैंड में मुस्लिम आबादी को लेकर काफी लंबे समय से चर्चा चल रही है। हाल ही में आम जनता से सवाल पूछा गया था कि सार्वजनिक जगह पर कोई अपना चेहरा न ढके, इस पर अपनी राय दें। स्विट्जरलैंड में बुर्का बैन (Burqa Ban) को लेकर जो बहस छिड़ी है, वो है राष्ट्रीय सुरक्षा और इस्लामोफोबिक सेंटिमेंट्स को लेकर है। स्विट्जरलैंड की आबादी में 5 फीसदी मुस्लिम हैं। जबकि पूरे देश की आबादी 86 लाख लोगों की है। पिछले कुछ समय से यूरोप में लगातार इस्लामी आतंकवाद बढ़ा है, ऐसे में माना जा रहा है कि बुर्के के जरिए लोगों की क्या सोच है उसके बारे में भी पता चल जाएगा। बता दें कि नीदरलैंड, जर्मनी, फ्रांस, ऑस्ट्रिया, बेल्जियम और डेनमार्क में बुर्का पहनने पर प्रतिबंध है। अगर लोग जनमत से बुर्के के खिलाफ मतदान करते हैं तो स्विट्जरलैंड का नाम भी उन देशों में शामिल हो जाएगा।