Logo
ब्रेकिंग
भव्य कलश यात्रा के साथ माता वैष्णों देवी मंदिर का 32वां वार्षिकोत्सव शुरू रामगढ़ में मनाया गया 74 वां गणतंत्र दिवस, विभिन्न कार्यालयों द्वारा निकाली गई झांकी माँ की ममता से दूर जेल में बंद पूर्व विधायक मामता देवी का दूधमुहा बच्चा बीमारी की गिरफ्त में । माता वैष्णों देवी मंदिर के 32वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 26 को सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर याद किए गए नेताजी, रामगढ़ से जुड़ा है नेताजी के कई लम्हो का नाता । स्वीप के तहत जिला प्रशासन एकादश एवं दिव्यांग एकादश के बीच हुआ क्रिकेट मैच का आयोजन । नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती एवं पराक्रम दिवस के अवसर पर माल्यार्पण कार्यक्रम का हुआ आयोजन । रामप्रसाद चंद्रभान सरस्वती विद्या मंदिर में संस्कृति ज्ञान परीक्षा का आयोजन। मेदांता रांची द्वारा अधिवक्ता संघ परिसर में लगाया गया निशुल्क स्वास्थ्य जांच शिविर । रामगढ़ विधानसभा उपचुनाव को लेकर कांग्रेस के पदाधिकारियों की हुई बैठक ।

कनाडा में भारतीय असुरक्षित, खालिस्तानी समर्थकों द्वारा बनाया जा रहा निशाना; जानें क्या है पूरा मामला

ओटावा। कनाडा में भारतीयों की सुरक्षा को लेकर भारत सर्तक हो गया है। नए कृषि कानूनों के समर्थन करने वाले भारतीय समुदाय के कुछ सदस्यों को धमकियां मिल रही है। इस संबंध में भारतीय विदेश मंत्रालय ने यह मुद्दा कनाडाई अधिकारियों के समक्ष भी उठाया। उधर, आज कनाडा में भारतीय मूल के कुछ लोगों ने अपनी सुरक्षा को लेकर विरोध प्रदर्शन किया। कुछ लोग एनडपी सांसद जगमीत सिंह के कार्यालय के बाहर विरोध -प्रदर्शन करते हुए नजर आए। प्रदर्शन के दौरान उन्होंने कहा कि भारत में चल रहे किसानों के विरोध-प्रदर्शन के चलते उन्हें खालिस्तान समर्थकों द्वारा निशाना बनाया जा रहा है।

बता दें कि कनाडा में भी कृषि कानूनों के प्रति लोगों की मिलीजुली प्रतिक्रिया देखने को मिल रही है। कृषि कानूनों के समर्थन में तिरंगा रैली निकालने पर कनाडा में भारतीय समुदाय के कुछ सदस्यों को धमकियां मिलने संबंधी रिपोर्टों पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने भी अपना बयान दिया। उन्होंने कहा कि कनाडा में भारतीय समुदाय के कुछ सदस्यों को धमकियां मिलने और डराने संबंधित रिपोर्ट सामने आई हैं। ये धमकियां कनाडा में कुछ तत्वों की तरफ से आई हैं। उन्होंने बताया कि भारतीय नागरिकों को ऐसी किसी भी घटना की रिपोर्ट स्थानीय कनाडाई पुलिस को करने की सलाह दी गई है। साथ ही इसके बारे में तत्काल ओटावा स्थित भारतीय उच्चायोग और भारतीय कांसुलेट को भी सूचना देने के लिए कहा गया है।

nanhe kadam hide