Logo
ब्रेकिंग
आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न । रामगढ़ एसपी ने पांच पुलिस निरीक्षकों को किया पदस्थापित रामगढ़ में एक डीलर और 11 अवैध राशन कार्डधारियों को नोटिस जारी

ऑस्ट्रेलिया के कानून में बदलाव के बाद फेसबुक बोला- जल्द समाचार पेजों से हटाएंगे बैन

कैनबरा। ऑस्ट्रेलिया सरकार और सोशल मीडिया दिग्‍गजों के बीच कंटेंट भुगतान को लेकर टकराव चल रहा है। यह सारा मामला ऑस्ट्रेलिया के नए मीडिया कानून से खड़ा हुआ। फेसबुक ने ऑस्ट्रेलिया में समाचार देखने और साझा करने पर रोक लगा दी। इस कारण कोरोनाकाल में लोगों को स्वास्थ्य विभागों और इनसे जुड़ी सूचनाएं प्राप्त करने में बेहद समस्या हुई। हालांकि, एक बार दोबारा फेसबुक अपनी सेवाएं शुरू करने जा रहा है। ऑस्ट्रेलिया की सरकार ने बताया कि कानून में बदलाव के बाद फेसबुक दोबारा से समाचार पेजों को बहाल करने जा रहा है।

बताया गया कि फेसबुक अगले कुछ दिनों में ऑस्ट्रेलियाई समाचार पेजों को फिर से बहाल करेगा, चूंकि कैनबरा सरकार ने कानून में संशोधन के लिए सहमति व्यक्त की है जिनसे सोशल मीडिया की दिग्गज कंपनियों को समाचार सामग्री के लिए भुगतान हो सकेगा।

इसपर फेसबुक ने कहा, ‘वह आने वाले दिनों में ऑस्ट्रेलियाई समाचार पेजों पर लगाया गया बैन हटा देगा।’ बता दें कि अभी प्रस्तावित मसौदा कानून का रूप ले भी नहीं पाया था और फेसबुक ने ऑस्ट्रेलिया में अपनी सेवा पर रोक लगा दी थी।

क्या है मामला और कानून

वस्तुत: ऑस्ट्रेलिया सरकार ने अप्रैल 2020 में ऑस्ट्रेलियन कंपीटीशन एंड कंज्यूमर कमीशन (एसीसीसी) नामक संस्था से एक ऐसा तंत्र विकसित करने को कहा था जिससे ऑस्ट्रेलियाई मीडिया घरानों और डिजिटल प्लेटफॉर्म के बीच एक संतुलित व्यावसायिक संबंध कायम हो सके। इसके बाद एसीसीसी के सुझाव के अनुरूप सरकार ने मीडिया कोड नाम से एक विधेयक संसद में प्रस्तुत किया है।

कानून में कहा गया कि अब ऑस्ट्रेलिया में गूगल और फेसबुक को अपने प्लेटफार्म पर साझा होने वाले समाचारों के बदले में उस समाचार प्रदाता को भुगतान करना होगा।