Logo
ब्रेकिंग
मॉबली*चिंग के खिलाफ भाकपा-माले ने निकाला विरोध मार्च,किया प्रदर्शन छावनी को किसान सब्जी विक्रेताओं को अस्थाई शिफ्ट करवाना पड़ा भारी,हूआ विरोध व गाली- गलौज सूक्ष्म से मध्यम उद्योगों का विकास हीं देश के विकास का उन्नत मार्ग है बाल गोपाल के नए प्रतिष्ठान का रामगढ़ सुभाषचौक गुरुद्वारा के सामने हुआ शुभारंभ I पोड़ा गेट पर गो*लीबारी में दो गिर*फ्तार, पि*स्टल बरामद Ajsu ने सब्जी विक्रेताओं से ठेकेदार द्वारा मासूल वसूले जाने का किया विरोध l सेनेटरी एवं मोटर आइटम्स के शोरूम दीपक एजेंसी का हूआ शुभारंभ घर का खिड़की तोड़ लाखों रुपए के जेवरात कि चोरी l Ajsu ने किया चोरों के गिरफ्तारी की मांग I 21 जुलाई को रामगढ़ में होगा वैश्य समाज के नवनिर्वाचित सांसद और जनप्रतिनिधियों का अभिनंदन l उपायुक्त ने कि नगर एवं छावनी परिषद द्वारा संचालित योजनाओं की समीक्षा।

ईरान के परमाणु ठिकानों के निरीक्षण में यूएन की टीम को सीमित अनुमति

तेहरान। ईरान ने अपने परमाणु ठिकानों के निरीक्षण को पहुंची संयुक्त राष्ट्र की टीम को फिलहाल सीमित अनुमति ही दी है। यहां पर निगरानी करने वाली टीम फिलहाल कोई फोटो भी नहीं खींच सकेगी। इधर संयुक्त राष्ट्र (यूएन) अंतरराष्ट्रीय एटॉमिक एनर्जी एजेंसी (आइएईए) के महानिदेशक राफेल ग्रॉसी ने कहा है कि ईरान के सीमित निरीक्षण की अनुमति के बावजूद उनकी टीम वहां चल रहे कामों की निगरानी कर सकती है। राफेल रविवार को अपनी टीम के साथ यहां पहुंचे हैं। उनका मकसद ईरान के साथ परमाणु कार्यक्रम की निगरानी को लेकर तकनीकी समझ को बनाए रखना है। वे चाहते हैं कि ईरान और संयुक्त राष्ट्र की निगरानी करने वाली संस्था के बीच यह समझ आगामी तीन माह तक बनी रहे।

पत्रकारों से बातचीत करते हुए सीमित निरीक्षण की बात सामने आने के बाद इस बात का संकेत मिल रहे हैं कि फिलहाल हैं कि अमेरिका के जो बाइडन प्रशासन के द्वारा ईरान के साथ परमाणु समझौते पर लौटने के एलान के बाद भी ईरान ने अपने तेवर नरम नहीं किए हैं। वह पहले अपने ऊपर लगाए गए प्रतिबंधों को हटाए जाने की मांग पर अड़ा हुआ है। इसीलिए अब उसके परमाणु प्रतिष्ठानों के निरीक्षण के लिए तेहरान पहुंचे अंतरराष्ट्रीय एटॉमिक एनर्जी एजेंसी (आइएईए) के महानिदेशक राफेल ग्रॉसी और उनकी टीम को फिलहाल ईरान सीमित निरीक्षण की ही अनुमति दे रहा है।

राफेल ग्रासी ने यहां परमाणु ऊर्जा संगठन के मुखिया अली अकबर सालेही से भी मुलाकात की है। ग्रासी ने बताया कि जमीनी स्तर पर जांच में उनके इंस्पेक्टरों की संख्या में कोई कमी नहीं की गई है। इधर ईरान के विदेश मंत्री मुहम्मद जवाद जरीफ ने कहा है कि आइएईए की टीम को कैमरे से फुटेज लेने की अनुमति नहीं दी जाएगी। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि यह कोई अंतिम निर्णय नहीं है और न ही यह अल्टीमेटम है।