Logo
ब्रेकिंग
रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न । रामगढ़ एसपी ने पांच पुलिस निरीक्षकों को किया पदस्थापित रामगढ़ में एक डीलर और 11 अवैध राशन कार्डधारियों को नोटिस जारी पुलिस अधीक्षक के कार्रवाई से पुलिस महकमा में हड़कंप, चार पुलिस कर्मी Suspend रामगढ़ छावनी फुटबॉल मैदान में लगा हस्तशिल्प मेला अब सिर्फ 06फ़रवरी तक l असामाजिक तत्वों ने देवी देवताओं की मूर्ति को किया क्षतिग्रस्त, गुस्साए ग्रामीणों ने किया सड़क जाम l

टूलकिट केस में गिरफ्तार दिशा रवि के समर्थन में उतरीं क्लाइमेट एक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग, जानें क्‍या कहा

नई दिल्‍ली। स्वीडन की क्लाइमेट एक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग (Greta Thunberg) ने भारत में टूल किट केस में गिरफ्तार 22 साल की दिशा रवि (Disha Ravi) का समर्थन किया है। उन्होंने (Greta Thunberg) ट्वीट कर कहा है कि अभिव्यक्ति की आजादी और शांतिपूर्ण प्रदर्शन सभी का मानवाधिकार है। इस मानवाधिकार पर कोई बहस नहीं की जा सकती है। इसे लोकतंत्र का मूल हिस्सा होना चाहिए। इसके साथ ही ग्रेटा थनबर्ग ने स्टैंड विद दिशा रवि (Stand With Disha Ravi) का हैशटैग भी लगाया।

फ्राइडेज फॉर फ्यूचर इंडिया के ट्वीट पर टिप्‍पणी 

जेल में बंद दिशा रवि (Disha Ravi) के समर्थन में उतरीं ग्रेटा थनबर्ग ने संगठन ‘फ्राइडेज फॉर फ्यूचर इंडिया’ (Fridays For Future India) के उस ट्वीट को कोट किया जिसमें लिखा गया है कि ‘फ्राइडेज फॉर फ्यूचर इंडिया क्लाइमेट जस्टिस के लिए वैश्विक आंदोलन का एक हिस्सा है। हम छात्रों के एक समूह से मिलकर बने हैं जो केवल एक उम्‍मीद के साथ एक ऐसे भविष्य बनाने की दिशा में काम कर रहा है जो जीवन जीने के लायक हो।’ एक ट्वीट में कहा गया है कि हम सभी का उद्देश्य जलवायु संकट के बारे में बातचीत शुरू करना है।

दिशा को तीन दिन और पुलिस रिमांड

उधर कृषि कानूनों के विरोध के नाम पर कथित तौर पर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत को बदनाम करने की साजिश रचने की आरोपित दिशा रवि को दिल्‍ली पुलिस ने शुक्रवार को नई दिल्‍ली स्थित पटियाला हाउस की एक अदालत में पेश किया। पुलिस ने अदालत को बताया कि दिशा पूछताछ में सहयोग नहीं कर रही है। वह घटनाक्रम के लिए सह-आरोपित निकिता जैकब और शांतनु मुलुक को जिम्मेदार बता रही है। पुलिस ने अभी और पूछताछ की जरूरत बताई जिस पर अदालत ने दिशा को तीन दिन और पुलिस रिमांड में रखने की मंजूरी दे दी।

ऐसे हुई थी विदेशी हस्तियों के आंदोलन में कूदने की शुरुआत 

उल्‍लेखनीय है कि बीते दिनों पॉप सिंगर रिहाना ने राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में चल रहे आंदोलन पर एक खबर टैग करते हुए इंटरनेट मीडिया साइट ट्विटर पर लिखा कि हम इस पर क्यों नहीं बात रहे हैं। इसके कुछ देर बाद स्वीडिश नागरिक ग्रेटा थनबर्ग ने लिखा कि मैं भारत में चल रहे किसान आंदोलन का समर्थन करती हूं। बाद में कुछ और ट्वीट कर ग्रेटा ने आंदोलन को व्यापक बनाने के उपाय बताते हुए टूल किट जारी किए। इसके बाद कुछ अन्य हस्तियों ने भी आंदोलन के समर्थन में बयान दिए थे।

भारत ने बताया था गैर जिम्मेदाराना व्यवहार

इसके बाद भारत सरकार ने विदेशी हस्तियों की तरफ से किसानों का मामला उठाने पर बहुत तीखी प्रतिक्रिया जताई थी। भारत के विदेश मंत्रालय ने कहा था कि विवादास्पद मुद्दे में कूदने से पहले उसकी सच्चाई जानने की कोशिश करनी चाहिए। सनसनीखेज इंटरनेट मीडिया हैशटैग चलाने का लालच बेहद गैर जिम्मेदाराना व्यवहार है। वहीं भारत के गृहमंत्री अमित शाह ने इसे सीधे सीधे दुष्प्रचार बताया था। यही नहीं बॉलीवुड और देश के दिग्‍गज खेल सितारों ने भी विदेशी हस्तियों को करारा जवाब दिया था।

भारतीय दिग्‍गजों ने दिया था जवाब 

सचिन तेंदुलकर ने ट्वीट कर कहा था कि भारत की संप्रभुता से समझौता नहीं किया जा सकता है। किसान आंदोलन में बाहरी ताकतों को दखलंदाजी नहीं करनी चाहिए। बाहरी ताकतें दर्शक हो सकती हैं… प्रतिभागी नहीं। भारतीय भारत को बेहतर तरीके से जानते हैं और उनको ही भारत में चल रहे मसलों पर फैसला करना चाहिए। आइए एक राष्ट्र के रूप में हम सभी एकजुट हों। ग्रेटा थनबर्ग समेत विदेशी हस्तियों के ट्वीट पर अभिनेता अक्षय कुमार, अजय देवगन और करण जौहर ने इंडियाटुगेदर हैशटैग के साथ सरकार के रुख का समर्थन किया था।