Logo
ब्रेकिंग
DISNEY LAND MELA का रामगढ़ फुटबॉल मैदान में हुआ शुभारंभ विस्थापितों की 60% की भागीदारी सुनिश्चित नहीं हुई, तो होगा CCl का चक्का जाम Income tax raid फर्नीचर व गद्दे में थीं नोटों की गड्डियां, यहां IT वालो को मिली अरबों की संपत्ति! बाइक चोरी करने वाले impossible गैंग का भंडाफोड़, पांच अपरा'धी गिरफ्तार।। रामगढ़ की बेटी महिमा को पत्रकारिता में अच्छा प्रदर्शन के लिए किया गया सम्मानित Bjp प्रत्याशी ढुल्लु महतो के समर्थन में विधायक सरयू राय के विरुद्ध गोलबंद हूआ झारखंड वैश्य समाज l हजारीबाग लोकसभा इंडिया प्रत्याशी जेपी पटेल ने किया मां छिनमस्तिका की पूजा अर्चना l गांजा तस्कर के साथ मोटासाइकिल चोर को रामगढ़ पुलिस ने किया गिरफ्तार स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा*

नेपाल में जारी राजनीतिक संकट के बीच आज चुनाव आयोग से मिलेंगे केपी शर्मा ओली

काठमांडू। नेपाल में इस वक्त राजनीतिक संकट जारी है। मौजूदा कार्यवाहक प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली (KP Sharma Oli) आज यानी मंगलवार को चुनाव आयोग से देश में चुनाव कराने को लेकर मुलाकात करेंगे साथ ही कम्युनिस्ट पार्टी (NCP) के भीतर छिड़े विवाद पर भी बातचीत करेंगे। सूत्रों का हवाला देते हुए  ख़बरूब (Khabarhub) ने बताया कि आज सुबह के वक्त चुनाव आयोग से केपी शर्मा ओली मिलेंगे और उसके बाद ही सभी तैयारी करेंगे। बता दें कि इससे पहले नेपाल के पूर्व प्रधानमंत्री माधव कुमार और दहल ने चुनाव आयोग से मुलाकात की थी। हालांकि, ओली ने पार्टी में चल रहे विवाद के दौरान चुनाव आयोग के कार्यालय का दौरा नहीं किया था।

20 दिसंबर से जारी सियाठी उठापटक

उधर, नेपाल की राष्ट्रपति बिद्या देवी भंडारी ने 20 दिसंबर को ओली की सिफारिश पर निचले सदन को भंग कर दिया था और संसद को भंग करने के बाद प्रधान मंत्री ने 30 अप्रैल और 10 मई, 2021 को भी चुनाव प्रस्तावित किए थे। बता दें कि 20 दिसंबर से ही नेपाल में राजनीतिक अस्थिरता का दौर जारी है। संसद को भंग करने और नए चुनाव कराए जाने का एलान करने के बाद पूरे देश में उनके खिलाफ विरोध-प्रदर्शनों का दौर शुरू हो गया था।

ओली के खिलाफ लगे थे नारे

बता दें कि पिछले दिनों नेपाल में कम्युनिस्ट पार्टी के भीतर छिड़े संग्राम के बीच पूर्व प्रधानमंत्री पुष्प कमल दहल प्रचंड समर्थक छात्रों ने रैली की। सभी छात्र प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली की संसद को भंग करने की सिफारिश पर अपना विरोध जता रहे थे। माना जा रहा था कि यह रैली ओली समर्थक छात्रों की दो दिन पूर्व हुई उस रैली के जवाब में हुई थी, जिसमें वी लव केपी ओली.. और ओली इज अवर हीरो.. के नारे लगे थे।

सुप्रीम कोर्ट में केपी शर्मा ओली के कदमों को मिली चुनौती

केपी शर्मा ओली द्वारा उठाए गए कदमों की सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई है। इस तरह की एक दर्जन याचिकाओं पर इस महीने फैसला आने की भी उम्मीद है। माना जा रहा है कि अगर ओली यह कानूनी लड़ाई जीत जाते हैं तो 30 अप्रैल और 10 मई को दो चरणों में चुनाव होने का रास्ता साफ हो जाएगा।