Logo
ब्रेकिंग
स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न ।

Parv Snan 2021: पर्व स्नान पर ट्रेन से आ रहे हैं तो इन बातों का रखें खास ख्याल, वरना नहीं कर पाएंगे हरिद्वार की यात्रा

हरिद्वार।  फरवरी में होने वाले पर्व स्नान पर यदि ट्रेन से हरिद्वार आना है तो आपका रिजर्वेशन होना जरूरी है। आरक्षित टिकट न होने पर आप हरिद्वार की यात्रा नहीं कर सकेंगे। फरवरी में होने वाले पर्व स्नान के लिए रेलवे ने यह व्यवस्था की है। इसके अलावा, स्नान के लिए आने वाले श्रद्धालुओं के पास 72 घंटे की आरटीपीसीआर जांच की निगेटिव रिपोर्ट होना जरूरी है। बस और निजी वाहन से हरिद्वार आने वाले श्रद्धालुओं को राज्य के बार्डर पर आरटीपीसीआर जांच की निगेटिव रिपोर्ट दिखानी होगी। जिन यात्रियों के पास निगेटिव रिपोर्ट नहीं होगी, उन्हें लौटा दिया जाएगा। स्थानीय श्रद्धालुओं को कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट की बाध्यता से मुक्त रखा गया है।

हरिद्वार में होने वाले महाकुंभ के शाही स्नान से पहले 11 फरवरी को मौनी अमावस्या, 16 को वसंत पंचमी और 27 फरवरी को माघ पूर्णिमा का स्नान है। कोविड को देखते हुए स्नान सुरक्षित हो, इसके लिए केंद्र की एसओपी का पालन किया जा रहा है। उत्तराखंड सरकार और रेलवे प्रशासन भी आपस में समन्वय बनाकर काम कर रहे हैं।

उत्तर रेलवे की वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक रेखा शर्मा ने बताया कि स्नान पर्व पर ट्रेन से हरिद्वार आने वाले श्रद्धालुओं को रिजर्वेशन कराकर ही यात्र करनी होगी। उन्होंने बताया कि यात्रियों की सुविधा के लिए रेलवे की ओर से टिकट काउंटरों के पास आश्रय स्थल भी बनाए गए हैं। हरिद्वार में चार और ज्वालापुर में पांच अतिरिक्त टिकट काउंटर बनाए गए हैं।

रेलवे प्रशासन के अनुसार फिलहाल हरिद्वार रूट पर 21 जोड़ी स्पेशल ट्रेन चलाई जा रही हैं। राज्य सरकार की मांग पर अतिरिक्त ट्रेनों का संचालन किया जा सकता है। कोविड प्रोटोकॉल और यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग की व्यवस्था राज्य सरकार की ओर से की जाएगी।