Logo
ब्रेकिंग
स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न ।

सीनेट में संख्‍याबल के खेल में ट्रंप पर महाभियोग की संभावना कम, रिपब्लिकन के पाले में गेंद, जानें पूरा मामला

वाशिंगटन। अमेरिकी उच्‍च सदन सीनेट ने पूर्व राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप पर महाभियोग की प्रक्रिया को असंवैधानिक करार दिए जाने की रिपब्लिकन सदस्‍य रैंड पॉल की कोशिश को खारिज कर दिया है। मंगलवार को रिपब्लिकन सदस्‍य पॉल पे ट्रंप पर महाभियोग लगाए जाने की प्रक्रिया को असंवैधान‍िक करार दिए जाने के संबंध में सीनेट में एक प्रस्‍ताव पेश किया, जिस पर मतदान हुआ और उसे सीनेट ने 55-45 के अंतर से खारजि कर दिया। बता दें कि पूर्व राष्‍ट्रपति ट्रंप रिपब्लिकन पार्टी से हैं। छह जनवरी को कैपिटल हिल में हुई हिंसा के बाद ट्रंप को अपनी ही पार्टी में विरोध का सामना करना पड़ा था। उस वक्‍त कई रिपब्लिकन नेता उनके विरोध में थे और महाभियोग के पक्ष में थे। लेकिन अब ट्रंप के पद से हटने के बाद अब हालात बदल गए हैं। आखिर क्‍या है महाभियोग की प्रक्रिया। ट्रंप महाभियोग से आखिर कैस बच सकेंगे।

ट्रंप के महाभियोग का क्‍या है पेच

  • छह जनवरी को कैपिटल हिल में हिंसा के बाद विपक्षी डेमोक्रेट्स ने ट्रंप पर जनता को गुमराह और उकसाने का आरोप लगाया था। इसके बाद डेमोक्रेट्स ने उन पर महाभियोग चलाने की प्रक्रिया शुरू की। दरअसल, महाभियोग की प्रक्रिया निचले सदन यानी प्रतिनिध‍ि सभा से शुरू होती है। प्रतिनिधि सभा से महाभियोग की प्रक्रिया उच्‍च सदन यानी सीनेट में ट्रायल के लिए जाती है। इसके बाद दोनों सदन इसे अंतिम रूप देते हैं।
  • प्रतिनिधि सभा में डेमोक्रेटिक पार्टी का बहुमत है, इसलिए महाभियोग का प्रस्‍ताव पारित हो गया। दूसरे चरण में महाभियोग का प्रस्‍ताव ट्रायल के लिए सीनेट में लाया गया। सीनेट में डेमोक्रेटिक पार्टी को बहुमत हासिल नहीं है।
  • वर्तमान में 100 सदस्‍यों वाली सीनेट में दोनों ही दलों के 50-50 सदस्‍य हैं। ऐसे में डेमोक्रेट्स को दो तिहाई बहुमत तक पहुंचने के लिए कम से कम 17 रिपब्लिकन सीनेटरों के समर्थन की जरूरत होगी। अमेरिका के उच्‍च सदन यानी सीनेट में अमेरिका के पूर्व राष्‍ट्रपति ट्रंप के महाभियोग मुकदमे में बरी हाने की संभावना बढ़ गई है। इसकी बड़ी वजह यह है कि सीनेट में डेमोक्रेट रिपब्लिकन सीनेटरों का पर्याप्‍त समर्थन हासिल करने में विफल रहे हैं।