Logo
ब्रेकिंग
आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न । रामगढ़ एसपी ने पांच पुलिस निरीक्षकों को किया पदस्थापित रामगढ़ में एक डीलर और 11 अवैध राशन कार्डधारियों को नोटिस जारी

अमेरिका: 67 साल में पहली बार एक महिला को दी जाएगी फांसी की सजा, सुप्रीम कोर्ट से रास्ता साफ

वाशिंगटन। अमेरिका में 67 साल में पहली बार एक महिला को फांसी की सजा सुनाई जाएगी। अमेरिका की सर्वोच्च अदालत ने महिला की फांसी की सजा पर रोक लगाने संबंधी याचिका को खारिज कर दिया है जिसके बाद अब इस महिला को फांसी की सजा दिए जाने का रास्ता साफ हो गया है। अमेरिकी सरकार ने लीजा मोंटगोमरी(Lisa Montgomery) नामक महिला को फांसी की सजा दिए जाने की तैयारी पूरी कर ली है।

लीजा मोंटगोमरी(Lisa Montgomery) अमेरिका के मिसूरी में रहने वाली एक गर्भवती महिला की हत्या करने के बाद उसके गर्भ से बच्ची को निकालकर अपने कब्जे में लेने की दोषी है। अमेरिका में लगभग सात दशक(करीब 67 साल) के बाद किसी महिला को मौत की सजा सुनाई गई है। दोषी लीजा मोंटगोमरी(Lisa Montgomery)  को इंडियाना के तेर्रे हाउते में एक केंद्रीय कारागार(सेंट्रल जेल) में फांसी की सजा दी जानी है।

फांसी की सजा पर अमेरिका में राजनीति !

लीजा मोंटगोमरी(Lisa Montgomery) को अमेरिकी के निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप(Donald Trump) के जाने से आठ दिन पहले फांसी की सजा का रास्ता साफ हो गया है। अमेरिका के निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन(Joe Biden) फांसी की सजा के खिलाफ हैं जबकि ट्रंप सरकार पर आरोप लगाए जा रहे हैं कि वह इस फांसी की सजा के ऐलान को गैरकानूनी ढ़ंग से आगे बढ़ाने चाहते हैं। अमेरिका में एक फेडरल जज ने न्याय विभाग पर आरोप लगाया है कि उसने एक महिला की फांसी सजा की तारीख को गैरकानूनी तरीके से आगे बढ़ा दिया है। जज ने इसका कारण बताया कि ट्रम्प प्रशासन चाहता है कि इस महिला को फांसी ट्रंप के शासन के दौरान न मिले, उसे नव निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन के शासन में सजा मिले।