Logo
ब्रेकिंग
हाथी का दांत को वन विभाग के अधिकारी ने किया जप्त। नवरात्रि के उपलक्ष में भव्य डांडिया रास का 24 सितंबर को होगा आयोजन । हजारीबाग में 30 फीट गहरी नदी में पलटी बस 07 लोगों की हुई मौत, गैस कटर से काटकर शव को निकाला गया। दो नाबालिग लड़की के दुष्कर्म मामले में फरार दोनो आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शांतनु मिश्रा राजीव गांधी पंचायती राज संगठन के प्रदेश उपाध्यक्ष मनोनीत मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन से राज्य के विभिन्न जिलों से पहुंचे नवनियुक्त जिला परिषद अध्यक्षों ने मुलाक... प्रखंड सह अंचल कार्यालय, रामगढ़ का उपायुक्त ने किया निरीक्षण पल्स पोलियो अभियान का रामगढ़ उपायुक्त ने किया शुभारंभ MRP से ज्यादा में शराब बेचने वालों की खैर नहीं, उपायुक्त ने दिया जांच अभियान चलाने का निर्देश । हेमंत कैबिनेट का बड़ा फैसला- 1932 के खतियानधारी ही झारखंडी,OBC को 27 प्रतिशत आरक्षण, जानें अन्य फैसल...

अमेरिका: 67 साल में पहली बार एक महिला को दी जाएगी फांसी की सजा, सुप्रीम कोर्ट से रास्ता साफ

वाशिंगटन। अमेरिका में 67 साल में पहली बार एक महिला को फांसी की सजा सुनाई जाएगी। अमेरिका की सर्वोच्च अदालत ने महिला की फांसी की सजा पर रोक लगाने संबंधी याचिका को खारिज कर दिया है जिसके बाद अब इस महिला को फांसी की सजा दिए जाने का रास्ता साफ हो गया है। अमेरिकी सरकार ने लीजा मोंटगोमरी(Lisa Montgomery) नामक महिला को फांसी की सजा दिए जाने की तैयारी पूरी कर ली है।

लीजा मोंटगोमरी(Lisa Montgomery) अमेरिका के मिसूरी में रहने वाली एक गर्भवती महिला की हत्या करने के बाद उसके गर्भ से बच्ची को निकालकर अपने कब्जे में लेने की दोषी है। अमेरिका में लगभग सात दशक(करीब 67 साल) के बाद किसी महिला को मौत की सजा सुनाई गई है। दोषी लीजा मोंटगोमरी(Lisa Montgomery)  को इंडियाना के तेर्रे हाउते में एक केंद्रीय कारागार(सेंट्रल जेल) में फांसी की सजा दी जानी है।

फांसी की सजा पर अमेरिका में राजनीति !

लीजा मोंटगोमरी(Lisa Montgomery) को अमेरिकी के निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप(Donald Trump) के जाने से आठ दिन पहले फांसी की सजा का रास्ता साफ हो गया है। अमेरिका के निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन(Joe Biden) फांसी की सजा के खिलाफ हैं जबकि ट्रंप सरकार पर आरोप लगाए जा रहे हैं कि वह इस फांसी की सजा के ऐलान को गैरकानूनी ढ़ंग से आगे बढ़ाने चाहते हैं। अमेरिका में एक फेडरल जज ने न्याय विभाग पर आरोप लगाया है कि उसने एक महिला की फांसी सजा की तारीख को गैरकानूनी तरीके से आगे बढ़ा दिया है। जज ने इसका कारण बताया कि ट्रम्प प्रशासन चाहता है कि इस महिला को फांसी ट्रंप के शासन के दौरान न मिले, उसे नव निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन के शासन में सजा मिले।