Logo
ब्रेकिंग
हाथी का दांत को वन विभाग के अधिकारी ने किया जप्त। नवरात्रि के उपलक्ष में भव्य डांडिया रास का 24 सितंबर को होगा आयोजन । हजारीबाग में 30 फीट गहरी नदी में पलटी बस 07 लोगों की हुई मौत, गैस कटर से काटकर शव को निकाला गया। दो नाबालिग लड़की के दुष्कर्म मामले में फरार दोनो आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शांतनु मिश्रा राजीव गांधी पंचायती राज संगठन के प्रदेश उपाध्यक्ष मनोनीत मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन से राज्य के विभिन्न जिलों से पहुंचे नवनियुक्त जिला परिषद अध्यक्षों ने मुलाक... प्रखंड सह अंचल कार्यालय, रामगढ़ का उपायुक्त ने किया निरीक्षण पल्स पोलियो अभियान का रामगढ़ उपायुक्त ने किया शुभारंभ MRP से ज्यादा में शराब बेचने वालों की खैर नहीं, उपायुक्त ने दिया जांच अभियान चलाने का निर्देश । हेमंत कैबिनेट का बड़ा फैसला- 1932 के खतियानधारी ही झारखंडी,OBC को 27 प्रतिशत आरक्षण, जानें अन्य फैसल...

यमन के हूती मूवमेंट को विदेशी आतंकी समूह करार देने में जुटा अमेरिका

रियाद/वाशिंगटन। अमेरिका (United States) ने यमन के हूती मूवमेंट को विदेशी आतंकी संगठन   करार देने की योजना बनाई है। अमेरिका के इस कदम की यमत केे हूती विद्रोहियों ने निंंदा की है। हूती विद्रोहियों को आतंकी करार दिए जाने के बारे में यह जानकारी विदेश सचिव माइक पोंपियो (Mike Pompeo) ने रविवार देर शाम को दी। विद्रोहियोंं पर यह आतंकी का ठप्पा 19 जनवरी से लागू हो जाएगा।  बता दें कि अमेरका के इस फैसले से सहयोगी ग्रुप व कूटनीतिज्ञों को इस बात की चिंता है कि इससे शांति वार्ता और दुनिया का सबसे बड़ा मानवीय संकट के समाधान के प्रयासों में बाधा हो सकती है।

ईरान समर्थित ग्रुप को ब्लैकलिस्ट करने का फैसला रॉयटर्स ने सबसे पहले दिया। बता दें कि 20 जनवरी को जो बाइडन  (President-elect Joe Biden)  अमेरिका के नए राष्ट्रपति के तौर पर सत्ता संभालने वाले हैं। पोंपियो ने रविवार को अपने बयान में कहा, ‘विदेश मंत्रालय कांग्रेस को सूचित करेगा कि हूती को  FTO (Foreign Terrorist Organization) घोषित कर दे।’

पिछले दिनों ट्रंप प्रशासन (Trump administration) ने ईरान संबंधित प्रतिबंधों को लागू कर रहा है जिसे देखते हुए बाइडन सहयोगी व बाहरी विश्लेषकों की ओर से कहा गया कि यह आने वाली नई सरकार के लिए मुश्किलें खड़ी करेगा ताकि अमेरिका दोबारा ईरान के साथ किसी तरह का संबंध न बना सके। साथ ही बाइडन प्रशासन के लिए दोबारा से अंतरराष्ट्रीय परमाणु समझौते में शामिल होना भी कठिन होगा।

पोंपियो ने कहा, ‘मैं अंसार अल्लाह (Ansar Allah) के तीन नेताओं अब्दुल मलिक अल-हूती (Abdul Malik al-Houthi, अब्दाल खालिक बद्र अल दिन अल हूती ( Abd al-Khaliq Badr al-Din al-Houthi) और अब्दुल्ला याहया अल हकीम ( (Abdullah Yahya al Hakim) को वैश्विक आतंकी करार देना चाहता हूं।’