Logo
ब्रेकिंग
स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न ।

कोविड-19 टीकाकरण के मसले पर गैर भाजपा शासित राज्‍य भी केंद्र के साथ, कहा- पूरी है हमारी तैयारी

नई दिल्‍ली। देश में 16 जनवरी से होने वाले टीकाकरण को लेकर तैयारियां अंतिम दौर में हैं। कई राज्यों ने रविवार को कहा कि पहले चरण के टीकाकरण को लेकर सभी जरूरी तैयारी कर ली गई है। इन तैयारियों में टीकाकरण स्थलों की पहचान, स्वास्थ्य देखभाल एवं अन्य फ्रंटलाइन वर्कस का पंजीकरण शामिल है। टीकाकरण के मसले पर राजस्‍थान समेत कई गैर भाजपा शासित राज्‍यों ने भी केंद्र का सहयोग करने की बात कही है। आइये जानें किस राज्‍य ने क्‍या कहा…

ममता बोलीं, सबको नि:शुल्‍क देंगे वैक्‍सीन

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने कहा है कि उनकी सरकार राज्य के सभी लोगों को नि:शुल्‍क कोरोना वैक्‍सीन मुहैया कराने की व्‍यवस्‍था कर रही है। एक खुले पत्र में मुख्यमंत्री बनर्जी ने कहा कि कोविड-19 के खिलाफ लड़ रहे योद्धाओं… पुलिस, होमगार्ड, नागरिक सुरक्षा स्वयंसेवक, सुधार गृह और आपदा प्रबंधन कर्मियों को प्राथमिकता के आधार पर टीका दिया जाएगा।

दिल्‍ली सरकार ने 89 स्थान तय किए

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्‍येंद्र जैन ने कहा कि केजरीवाल सरकार ने राष्ट्रीय राजधानी में 16 जनवरी से शुरू होने जा रहे कोविड-19 टीकाकरण अभियान के लिए 89 स्थान तय कर लिए हैं। 40 सरकारी और 49 निजी अस्पतालों में टीकाकरण किया जाएगा। मंगलवार या बुधवार तक टीकों की पहली खेप आ जाएगी। टीकाकरण के पहले चरण में स्वास्थ्य कर्मियों को टीके लगाए जाएंगे।

राजस्‍थान ने कहा पूरी है तैयारी

राजस्‍थान के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री रघु शर्मा ने बताया कि पहले चरण में लगभग 4.5 लाख स्‍वास्‍थ्‍य कर्मचारियों को कोविड वैक्‍सीन लगाई जाएगी। पहले चरण के लिए प्रदेश में 282 केंद्र बनाए गए हैं। इसके लिए 18 हजार से अधिक स्वास्थ्यकर्मियों को प्रशिक्षण दिया गया है। सरकारी और निजी क्षेत्र के 4,36,146 स्‍वास्‍थ्‍य कर्मचारी अब तक को-विन सॉफ्टवेयर पर रजिस्‍ट्रेशन करा चुके हैं।

गुजरात में 16 हजार कर्मचारी प्रशिक्षित

गुजरात के मुख्‍यमंत्री विजय रुपाणी ने कहा है कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे फ्रंट लाइन वर्कर और स्वास्थ्य कर्मियों समेत लगभग 11 लाख लोगों को प्राथमिकता पर कोविड वैक्‍सीन लगाई जाएगी। टीकाकरण में सहयोग के लिए 16 हजार लोगों को प्रशिक्षित किया गया है।

यूपी में सबको टीका लगाने की होगी कोशिश 

यूपी के सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि राज्‍य के हर व्‍यक्ति को टीका लगाने का प्रयास किया जाएगा। भारत इकलौता ऐसा देश है जहां दो टीके तैयार किए गए हैं। सबके प्रयासों से उत्तर प्रदेश कोरोना पर विजय हासिल करेगा। उन्‍होंने कहा कि टीकाकरण को लेकर केंद्र सरकार के दिशानिर्देशों का पालन सुनिश्चित किया जाएगा।

झारखंड और पंजाब में निर्धारित हुए केंद्र 

झारखंड में 129 केंद्रों पर टीकाकरण की शुरुआत एक साथ होगी। पहले चरण में लगभग 1.5 लाख हेल्थ केयर वर्कर्स तथा आंगनबाड़ी सेविकाओं को कोरोना का टीका लगाया जाएगा। पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू के मुताबिक, पूरे राज्य में 700 से ज्यादा ऐसे प्वाइंट बनाए जाएंगे जहां पर टीकाकरण किया जाएगा। सबसे पहले डेढ़ लाख हेल्थ वर्करों को टीकाकरण किया जाएगा।

आंध्र प्रदेश और गोवा भी तैयार 

आंध्र प्रदेश के एक वरिष्‍ठ अधिकारी ने बताया कि लगभग पहले चरण में राज्‍य के 3.6 लाख स्वास्थ्य कर्मचारियों का टीकाकरण किया जाएगा। राज्‍य में टीकाकरण अभियान को लेकर तीन सफल ड्राई रन संपन्‍न हो चुके हैं। वहीं गोवा के  प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. राजेंद्र बोरकर ने कहा कि गोवा सरकार ने कोरोना टीकाकरण के पहले चरण के लिए आठ अस्पतालों की पहचान की है जहां लगभग 18 हजार स्वास्थ्य कर्मचारियों का टीकाकरण होगा।

को-विन साबित होगा अभियान का आधार 

केंद्र सरकार ने 16 जनवरी से शुरू होने वाले टीकाकरण अभियान पर कहा है कि कोरोना के टीके की आपूर्ति की निगरानी के लिए बनाए गए आनलाइन प्लेटफार्म को-विन कोरोना वायरस टीकाकरण अभियान का आधार होगा। पहले चरण में प्राथमिकता वाले समूह के करीब तीन करोड़ स्वास्थ्यकर्मियों और अग्रिम मोर्चे पर कार्यरत कर्मचारियों को वैक्सीन दी जाएगी।