Logo
ब्रेकिंग
आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न । रामगढ़ एसपी ने पांच पुलिस निरीक्षकों को किया पदस्थापित रामगढ़ में एक डीलर और 11 अवैध राशन कार्डधारियों को नोटिस जारी

ऑस्ट्रेलिया-चीन विवाद में फंसे 23 भारतीयों सहित 1400 नाविक, 6 माह से चीनी बंदरगाह पर हैं कैद

सिडनीःऑस्ट्रेलिया और चीन की  कारोबारी खींचतान व  विवाद  कारण कई भारतीय समेत 1400 नाविकों का जीवन संकट में फंस गया है। 70 जहाजों में सवार ये नाविक 6 महीने से चीन के बंदरगाहों पर फंसे हैं जिस कारण उनकी  शारीरिक और मानसिक हालात लगातार खराब हो रही है।।  जहाजों में करीब एक करोड़ टन कोयला भरा है जिसे चीन बंदरगाहों पर उतरने नहीं दे रहा है। भारतीय नाविक वीरेंद्र सिंह भोंसले भी चीन के पूर्वी तट पर अपने जहाज जग आनंद पर 23 साथियों के साथ अघोषित कैद में हैं।

चीन कोरोना को लेकर पर्यावरण संरक्षण  के बहाने बनाकर कोयल उतरने नहीं दे रहा। जबकि मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इसकी असली वजह आस्ट्रेलियाई सरकार द्वारा वायरस की चीन से शुरुआत की जांच की मांग है। नवंबर में चीन के विदेश मंत्री ने दावा किया कि वह किसी जहाज को रोक नहीं रहा है, जो जहाज रूके हैं उनकी वजह व्यापारिक हैं। मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियान ने पर्यावरण कानूनों का बहाना भी बनाया है।

नाविक वीरेंद्र के जहाज पर ऑस्ट्रेलिया से आया 1.6 लाख टन कोयला लदा है। जब तक कोयला उतारा नहीं जाता  नियमों के तहत वे जहजों को छोड़कर नहीं जा सकते। एक के पिता का निधन भारत में हो गया है। मां कैंसर से जूझ रही है। कुछ साथी डायबिटीज और हाइपरटेंशन के रोगी हैं। दवाएं खत्म हो रही हैं। जख्मी बिना इलाज के रह रहे हैं।  जग आनंद से 31 मील दूर काओफेडियन बंदरगाह पर फंसे एनास्टासिया जहाज के नेविगशन जहाज के नेविगेशन अधिकारी गौरव सिंह ने बताया कि उनके अधिकतर नाविक केबिन से बाहर नहीं आ रहे हैं।