Logo
ब्रेकिंग
स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न ।

बंगाल भाजपा ने कहा- अमित शाह अब से हर महीने बंगाल का दौरा करेंगे

कोलकाता। केंद्रीय गृह मंत्री व भाजपा के दिग्गज नेता अमित शाह अगले साल जनवरी में फिर बंगाल के दौरे पर आ सकते हैं। बंगाल भाजपा सूत्रों की मानें तो अमित शाह स्वामी विवेकानंद की जन्मशतवार्षिकी के उपलक्ष्य में 12 जनवरी को कोलकाता आएंगे। विवेकानंद जयंती पर आयोजित होने वाले कार्यक्रम में शरीक होने के अलावा वे हावड़ा के डुमुरजला स्टेडियम में पार्टी कार्यकर्ताओं की सभा को संबोधित करेंगे। उस सभा से वे बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए विस्तृत कार्यसूची की घोषणा कर सकते हैं।

अमित शाह के दौरे की अभी तक आधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं हुई है। हालांकि, बंगाल भाजपा पहले ही कह चुकी है कि अमित शाह अब से हर महीने बंगाल का दौरा करेंगे। अमित शाह इससे पहले गत शुक्रवार रात कोलकाता आए थे।

उन्होंने शनिवार को पूर्व मेदिनीपुर में सभा की थी, जहां सुवेंदु अधिकारी ने तृणमूल कांग्रेस छोड़कर भाजपा का झंडा थामा था। उसी रात को अमित शाह ने भाजपा के केंद्रीय व बंगाल के शीर्ष नेताओं के साथ महत्वपूर्ण बैठक की थी और बंगाल नेतृत्व को होम टास्क देकर गए थे। गौरतलब है कि अमित शाह की नजर अब बंगाल फतह करने पर है।

उन्होंने पार्टी नेताओं व कार्यकर्ताओं को भाजपा को बूथ स्तर पर मजबूत करने के लिए घर-घर जाकर लोगों से संपर्क करने का निर्देश दिया है। शाह हर महीने आकर बंगाल आकर विधानसभा चुनाव की तैयारियों का जायजा लेना चाहते हैं। जनवरी का उनका दौरा भी उसी परिप्रेक्ष्य में बताया जा रहा है। बंगाल के भाजपा के केंद्रीय स्तर के नेताओं की आवाजाही लगातार बढ़ रही है, जो तृणमूल खेमे को भी बेचैन कर रही है।