अपनी हरकतों से बाज नहीं आया पाक, टिड्डियों के मसले पर नहीं दिया भारत की पेशकश का जवाब

नई दिल्ली। भारत जहां एक तरफ टिड्डियों के हमले से निपटने की तैयारी में जुटा है, वहीं पाकिस्तान ने अभी तक दोनों देशों को प्रभावित करने वाले इस मसले पर चर्चा की भारत की पेशकश का कोई औपचारिक जवाब नहीं दिया है। सूत्रों के मुताबिक, अब तकनीकी स्तर की बैठक 18 जून को होने की संभावना है।

पाकिस्तान के विदेश विभाग ने पांच जून को कहा था कि रेगिस्तानी टिड्डियों के मसले से निपटने के लिए भारत और पाकिस्तान खाद्य और कृषि संगठन (एफएओ) के तहत एक दूसरे के साथ सहयोग कर रहे हैं। भारत और पाकिस्तान दोनों एफएओ के दक्षिण-पश्चिम एशिया में रेगिस्तानी टिड्डियों के नियंत्रण के लिए आयोग (एसडब्लूएसी) के सदस्य हैं। पाकिस्तानी विदेश कार्यालय की प्रवक्ता आयशा फारूकी का कहना था कि पाकिस्तान सभी एसडब्लूएसी सदस्य देशों के साथ सहयोग के लिए प्रतिबद्ध है। इसमें भारत भी शामिल है।

तेलंगाना में हाई अलर्ट

तेलंगाना में टिड्डी दल के संभावित हमले के मद्देनजर मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने अधिकारियों को हाई अलर्ट पर रहने का निर्देश दिया है। विशेषज्ञों ने राज्य में 20 जून से पांच जुलाई के बीच टिड्डी दल के हमले की आशंका जताई है।

नागपुर पहुंचा टिड्डियों का दल

पेंच टाइगर रिजर्व से टिड्डियों का दल महाराष्ट्र में नागपुर जिले के अजनी गांव में पहुंच गया है। अभी तक वहां से फसल के किसी नुकसान की खबर नहीं है। बुधवार सुबह वहां फसलों और पेड़ों पर ड्रोनों की मदद से कीटनाशकों का स्प्रे किया गया।

Whats App