‘MS Dhoni मैच फिनिशर के तौर पर ऐसे खेलते हैं, जैसे उनके लिए नतीजा मायने नहीं रखता’

yamaha

नई दिल्ली। भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और नेशनल क्रिकेट एकेडमी के मुखिया राहुल द्रविड़ ने दिग्गज विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धौनी की तारीफ की है। द्रविड़ ने एक मैच के बैकएंड के दौरान एमएस धौनी की बल्लेबाजी की प्रशंसा करते हुए कहा कि विकेटकीपर बल्लेबाज धौनी अक्सर मैच के आखिर में खेलते थे जैसे कि परिणाम वास्तव में उनके लिए मायने नहीं रखता।

द्रविड़ ने यह भी कहा कि दबाव भरी स्थितियों में, परिणामों की चिंता न करना खिलाड़ियों को खुद में सर्वश्रेष्ठ लाने में मदद कर सकता है। ईएसपीएन क्रिकइंफो के वीडियोकास्ट में संजय मांजरेकर से बात करते हुए द्रविड़ ने कहा है, “आप एमएस धौनी को मैच के आखिर के पलों के दौरान खेलते हुए देखते हैं जब वह अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन पर थे, आपको हमेशा ऐसा लगता था कि वह टीम के लिए वास्तव में कुछ महत्वपूर्ण कर रहा है, लेकिन वह इसे ऐसे खेल रहे होते हैं जैसे परिणाम उनके लिए वास्तव में मायने नहीं रखता।”

उन्होंने कहा है, “मुझे लगता है कि या तो आपको पास वो चीज होना चाहिए या फिर आपको इसके लिए प्रशिक्षित होने की आवश्यकता है। यह एक ऐसी प्रतिभा है, जो मुझमें कभी नहीं रही। किसी भी निर्णय के परिणाम मेरे लिए मायने रखते हैं। एमएस धौनी से यह पूछना दिलचस्प होगा कि यह कुछ ऐसा है जो उनके करियर में स्वाभाविक रूप से आया है या उन्होंने इस पर काम किया है।

साल 2004 में बांग्लादेश के खिलाफ वनडे क्रिकेट में डेब्यू करने वाले धौनी ने पाकिस्तान के खिलाफ सीरीज के छठे मैच में 148 रन ठोककर खुद को साबित किया था। वह दुनिया के एकमात्र ऐसे कप्तान हैं, जिन्होंने आइसीसी की सभी बड़ी ट्रॉफी जीती हैं, जिनमें टी20 वर्ल्ड कप,वनडे वर्ल्ड कप और आइसीसी चैंपियंस ट्रॉफी शामिल है। उनकी कप्तानी में भारतीय टीम ने आइसीसी की टेस्ट रैंकिंग में नंबर वन बनने का गौरव भी हासिल किया था।

raja moter

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.