नस्लभेदी टिप्पणी का शिकार होने वाले आर्चर बोले- सामाजिक असमानता के खिलाफ बोलें लोग

yamaha

लंदन। इंग्लैंड के तेज गेंदबाज जोफ्रा आर्चर ने अमेरिका में पुलिस हिरासत में एक निहत्थे काले व्यक्ति की मौत के बाद नस्लीय दुर्व्यवहार के शिकार लोगों से बात करने का आग्रह किया है। वीडियो फुटेज में एक श्वेत पुलिस अधिकारी को दिखाया गया था कि उसने 25 मई को मरने से पहले लगभग नौ मिनट तक 46 वर्षीय जॉर्ज फ्लॉयड की गर्दन पर चाकू मारा था, जिससे दुनिया भर में आक्रोश और विरोध शुरू हो गया था।

इसी को लेकर कैरेबियाई मूल के इंग्लैंड के लिए क्रिकेट खेलने वाले जोफ्रा आर्चर ने डेली मेल को लिखे अपने कॉलम में कहा है, “मुझे बहुत खुशी है कि ब्लैक लाइव्स मैटर कैंपेन (अश्वेत लोगों की जिंदगी के भी मायने हैं) इस तरह मुखर हुआ है।” बता दें कि तेज गेंदबाज आर्चर खुद न्यूजीलैंड के खिलाफ पिछले साल नवंबर में नस्लीय टिप्पणी का शिकार हुए थे। हालांकि, उस फैन को न्यूजीलैंड क्रिकेट बोर्ड ने बैन कर दिया था।

इंग्लैंड की टीम के लिए अब तक 7 टेस्ट और 14 वनडे इंटरनेशनल मैच खेलने वाले जोफ्रा आर्चर ने इंग्लैंड की टीम की विविधता के लिए सराहना की है और कहा है, “एक व्यक्ति के रूप में, मैं हमेशा बोलने के समर्थन में रहा हूं, खासकर अगर कोई आपको परेशान करता है। मेरा व्यक्तिगत विचार है कि आपको कभी भी चीजों को बोतलबंद नहीं रखना चाहिए, क्योंकि नस्लवाद ठीक नहीं है।”

25 वर्षीय आर्चर ने आगे कहा है, “हम सभी देश में रहते हैं और यदि आप अंग्रेज हैं, तो आपको किसी और की तरह खेलने का उतना ही अधिकार है। मेरी एक तस्वीर थी, जिसमें मैं, जोस बटलर और आदिल राशिद 2019 विश्व कप के फाइनल के दौरान जश्न मनाते हुए दिख रहे हैं। इस तस्वीर ने आपको हमारी टीम के बारे में जानने के लिए आपको सब कुछ बता दिया होगा।” बता दें कि इंग्लैंड की टीम में कई देशों के खिलाड़ी खेलते आ रहे हैं, लेकिन उनको इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड की शर्तों पर खरा उतरना होता है।

raja moter

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.