लॉकडाउन में भी म्यूचुअल फंड स्कीम्स ने दिए जबरदस्त रिटर्न, जानें क्या रही वजह

yamaha

नई दिल्ली। Equity से जुड़ी म्यूचुअल फंड स्कीम्स ने लॉकडाउन के दौरान भी 25 फीसद का तगड़ा रिटर्न दिया। विशेषज्ञों का कहना है कि शेयर बाजारों में रिकवरी, आरबीआई द्वारा सिस्टम में पूंजी डालने और सरकार के प्रोत्साहन पैकेज की घोषणा के बीच म्यूचुअल फंड्स ने यह रिटर्न दिया। प्राइम इंवेस्टर डॉट इन की सह-संस्थापक विद्या बाला ने कहा कि म्यूचुअल फंड ने मार्च के निचले स्तर से वापसी की है लेकिन लंबी अवधि के रिटर्न अब भी बहुत अच्छे नजर नहीं आ रहे हैं। मॉर्निंगस्टार इंडिया द्वारा संकलित आंकड़ों के मुताबिक 25 मार्च से तीन जून के बीच ELSS, मिड-कैप, लार्ज कैप, स्मॉल कैप और मल्टी-कैप सहित सभी श्रेणियों के इक्विटी स्कीम्स ने 23-25 फीसद तक का रिटर्न दिया।

इन आंकड़ों के मुताबिक लार्ज-कैप फंड्स ने सबसे अधिक 25.1 फीसद, मल्टी-कैप फंड ने 25 फीसद, ELSS और लार्ज एवं मिड-कैप फंड्स ने (24.9-24.9 फीसद), स्मॉल-कैप (24 फीसद) और मिड-कैप ने 23.2 फीसद का रिटर्न दिया।

आलोच्य अवधि में शेयर बाजार में 25-30 फीसद तक की रिकवरी देखने को मिली। हालांकि, अधिकतर एक्टिव फंड्स का प्रदर्शन उनके बेंचमार्क से कमतर रहा।

कोविड-19 संक्रमण से मुकाबले के लिए राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन 25 मार्च को लागू हुआ था और कुछ राज्यों ने कंटेनमेंट जोन में इसे 30 जून तक के लिए बढ़ा दिया है।

इससे पहले 19 फरवरी से लेकर 24 मार्च के बीच सभी इक्विटी स्कीम ने (-) 32-37 फीसद तक का निगेटिव रिटर्न दिया था।

स्क्रिपबॉक्स के सह-संस्थापक प्रतीक मेहता के मुताबिक सरकार और दुनियाभर के केंद्रीय बैंकों द्वारा पिछले 12 हफ्तों में लिए गए फैसलों के कारण म्यूचुअल फंड पॉजिटीव रिटर्न दे रहे हैं।

raja moter

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.