जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले में मुठभेड़ में आतंकी ढेर, कई के घिरे होने की खबर

yamaha

राजौरी। जम्मू संभाग के राजौरी जिले (Rajouri district) की कालाकोट तहसील के जंगल में गुरुवार रात को मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने एक आतंकी को मार गिराया। यह मुठभेड़ मेहारी गांव (Mehari village) में हुई। कुछ आतंकियों के घिरे होने की जानकारी सामने आ रही है। सुरक्षाबलों ने जंगल के करीब एक किलोमीटर क्षेत्र को घेर लिया है। सुरक्षा बलों का ऑपरेशन जारी है। कालाकोट तहसील के मियाडी जंगल में संदिग्ध हलचल देखे जाने के बाद स्थानीय लोगों ने सेना को सूचित किया था। जिसके बाद आरआर बटालियन के जवानों ने जंगल में तलाशी अभियान शुरू किया।

जवाबी कार्रवाई में मारा गया आतंकी 

वहीं राजौरी और पुंछ रेंज (Rajouri and Poonch Range) के डीआइजी ऑफ पुलिस विवेक गुप्‍ता (Vivek Gupta) ने बताया कि खुफ‍िया इनपु‍ट मिलने के बाद पुलिस और सेना के जवानों की ओर से एक तलाशी अभियान कासो (Cordon and Search Operation, CASO) कालाकोट इलाके में चलाया गया। तलाशी अभियान के दौरान छ‍िपे आतंकियों ने सुरक्षा बलों पर फायरिंग कर दी जिसके बाद जवाबी कार्रवाई में एक आतंकी मार गया है। मारे गए आतंकी की पहचान कराई जा रही है। बताया जाता है कि डीआइजी राजौरी-पुंछ रेंज विवेक गुप्‍ता और एसएसपी चंदन कोहली भी मौके पर पहुंचे गए।

गुरुवार को ही एक अन्‍य घटन में कुलगाम के यारीपोरा इलाके में कुछ आतंकवादियों ने पुलिस दल पर हमला कर दिया। आतंकवादियों की गोलीबारी में एक स्वास्थ्य कर्मी घायल हो गया। पुलिस दल पर फायरिंग करते हुए आतंकी वहां से भागने में सफल रहे। तलाशी अभियान में सुरक्षाबलों ने एक काली सेंट्रो कार को बरामद कर लिया जिसमें आतंकी सवार थे। गोली स्वास्थ्य कर्मी की छाती पर लगी है जिससे उसकी हालत नाजुक बनी हुई है।

उधर पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा। गुरुवार रात सुंदरबनी सेक्टर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर अचानक भारी गोलाबारी शुरू कर दी। भारतीय जवानों ने इसका मुंहतोड़ जवाब दिया, लेकिन इस दौरान सेना के हवलदार एमएम करण शहीद हो गए।जानकारी के मुताबिक पाकिस्तानी सेना ने भारतीय सैन्य चौकियों के साथ रिहायशी क्षेत्रों को भी निशाना बनाया। भारतीय जवानों ने पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दिया। देर रात तक सीमा पर भारी गोलाबारी जारी रही थी।

इससे पहले पुलवामा के सैमोह इलाके में सुरक्षा बलों ने मंगलवार को मुठभेड़ में दो आतंकियों को मार गिराया था। सोमवार को नौशेरा सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास घुसपैठ की कोशिश कर रहे तीन पाकिस्तानी आतंकियों को भी सेना ने मार गिराया था।

वहीं सूत्रों का कहना है कि पाकिस्तानी सेना और पाक की खुफियां एजेंसी आइएसआइ भारत में आतंकी हमलों को अंजाम देने के लिए बेचैन हैं। पाकिस्‍तान में बैठे बड़े आतंकी कमांडर भारत में हमले कराने के लिए लगातार बैठक कर रहे हैं। सूत्रों की मानें तो बैठक में तय हुआ कि किसी भी तरह ज्‍यादा से ज्‍यादा आतंकियों को सीमा पार कराकर घुसपैठ कराई जाए। पाक आतंकियों को घातक हथियारों से लैस करने पर जोर दे रहा है ताकि वे भारत में बड़ी वारदात को अंजाम दे सकें। सूत्रों ने बताया कि पाकिस्‍तान आने वाले समय में फ‍िर कोई हिमाकत कर सकता है।

raja moter

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.