बांग्लादेश के खिलाड़ियों को बोर्ड ने नहीं दी स्टेडियम प्रैक्टिस करने की अनुमति, ये है कारण

yamaha

नई दिल्ली। बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड यानी बीसीबी ने अपने कुछ बड़े खिलाड़ियों को शेर-ए-बांग्ला नेशनल स्टेडियम में ट्रेनिंग और प्रैक्टिस करने की अनुमति सुरक्षा कारणों की वजह से नहीं दी है, क्योंकि अभी कोरोना वायरस महामारी का प्रकोप कम नहीं हुआ है। बांग्लादेश की टीम के विकेटकीपर बल्लेबाज मुशफिकुर रहीम उन खिलाड़ियों में शामिल हैं, जिनको बोर्ड ने स्टेडियम में प्रैक्टिस करने की इजाजत नहीं दी है।

बीसीबी ने इसलिए भी अपने खिलाड़ियों को स्टेडियम में ट्रेनिंग करने की अनुमति नहीं दी है, क्योंकि बोर्ड अभी तक अपनी सुविधाओं कीटाणुरहित नहीं कर पाया है। बीसीबी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी निजामुद्दीन चौधरी ने कहा है, “मुशफिकुर रहीम ने हमारे साथ संवाद किया, वह व्यक्तिगत प्रशिक्षण शुरू करना चाहते थे, लेकिन हमने उनसे कहा कि ऐसा करने के लिए अभी कोई सुरक्षित समय नहीं है, उन्हें घर पर ट्रेनिंग करनी चाहिए। प्रशिक्षण महत्वपूर्ण है, लेकिन खिलाड़ियों की सुरक्षा हमारे लिए अधिक महत्वपूर्ण है।”

बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड के अधिकारी ने क्रिकबज के हवाले से कहा है, “कुछ अन्य खिलाड़ी भी यह जानना चाहते थे कि क्या वे व्यक्तिगत ट्रेनिंग कर सकते हैं, लेकिन हमारा संदेश सभी के लिए समान था। हम अपनी सुविधाओं को खेलने योग्य करने पर काम कर रहे हैं, लेकिन अभी तक काम पूरा नहीं हुआ है।” 31 मई से बांग्लादेश में भी लॉकडाउन हट गया है, लेकिन हालात सामान्य नहीं है, क्योंकि यहां 55 हजार से ज्यादा केस सामने आए हैं, जबकि 746 लोगों की मौत भी कोरोना के कारण हो गई है।

निजामुद्दीन चौधरी ने आगे कहा है, “हमें पूरी स्थिति पर विचार करने की जरूरत है। हम कुछ भी नहीं कर सकते। कई देश अपनी गतिविधियां शुरू कर रहे हैं। हम निश्चित रूप से ऐसा ही करेंगे। हालांकि, हम अभी कोई सटीक तारीख नहीं दे सकते। हम ईद के बाद ट्रेनिंग के लिए आवश्यक चीजों को कीटाणुरहित करने के लिए काम कर रहे हैं, और यह प्रक्रिया में है। इसके पूरा होने के बाद हम कह सकते हैं कि हम फिर से क्रिकेट ट्रेनिंग शुरू करने के लिए तैयार हैं।”

raja moter

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.