विद्युत कटौती के विरोध में चेंबर उतरा सड़कों पर, जुलूस निकाल DVC सब स्टेशन के समक्ष किया प्रदर्शन

yamaha

Ramgarh:रामगढ़ में डीवीसी के द्वारा 18 घंटे बिजली कटौती के विरोध में चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज के द्वारा बारिश के बावजूद डीवीसी कार्यालय के मेन गेट के सामने दो घंटे का सांकेतिक धरना और प्रदर्शन किया गया। चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष विमल बुधिया के नेतृत्व में चेंबर के द्वारा दिए गए धरना में चेंबर सदस्यों के अलावा भारी संख्या में आम और खास लोग भारी बारिश बाबजूद शामिल हुए।


धरने के बाद डीवीसी के कार्यपालक अभियंता राहुल रंजन व रामगढ़ विद्युत बोर्ड के कार्यपालक अभियंता को ज्ञापन भी सौंपा गया। डीवीसी के कमांड एरिया धनबाद, गिरिडीह, बोकारो, हजारीबाग, कोडरमा, चतरा और रामगढ़ में 18 घंटे तक बिजली की कटौती पांचवें दिन भी जारी रहने के विरोध में चेंबर ने आंदोलन करने की घोषणा की है।
चेंबर अध्यक्ष विमल बुधिया सचिव पंकज तिवारी का कहना है कि डीवीसी के कमांड एरिया रामगढ़ जिले सहित 7 जिलों में DVC के द्वारा 18 घंटे की बिजली कटौती की जा रही है। जिसके कारण लोगों का जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। बिजली कटौती से परेशान लोगों के सब्र का बांध टूट गया है। अगर डीवीसी के द्वारा रामगढ़ जिले में 18 घंटे बिजली की कटौती को वापस नहीं लिया गया तो रामगढ़ जिले के लोग व्यापारी वर्ग और DVC से नाराज आम जनता सड़क पर उतर कर डीवीसी के खिलाफ जोरदार आंदोलन करने के लिए मजबूर हो जाएगा।
DVC के द्वारा अचानक बिना नोटिस दिए ही 18 घंटा बिजली काटे जाने से सात जिले के लोगों का जीना मुश्किल हो गया है। बिजली-पानी संकट के कारण व्यापार पूरी तरह चौपट हो गया है। लोगों की परेशानियों से डीवीसी के अधिकारियों के कोई वास्ता नहीं रह गया है। लोग बिजली कटौती के कारण त्राहिमाम त्राहिमाम कर रहे हैं। लेकिन DVC के अधिकारियों के कानों में जूं तक नहीं रेंग रही है। डीवीसी के अधिकारी अपने बकाया करीब पांच करोड़ की वसूली के लिए आम जनता को परेशान कर रही है जो कहीं से भी सही नही है।

चेंबर का कहना है कि अगर आज के संकेतिक धरना के बाद भी डीवीसी के द्वारा 18 घंटे की बिजली कटौती को वापस नहीं लिया गया तो चेंबर चरणबद्ध आंदोलन की घोषणा करेगा।

जरूरत पड़ने पर रामगढ़ के व्यापारियों और आम लोगों के साथ मिलकर रामगढ़ बंद करने और डीवीसी कार्यालय में तालाबंदी कर डीवीसी के द्वारा सप्लाई की जाने वाली सभी लाइनों को बाधित कर देगा। इसका जिम्मेवार आंदोलन के लिए मजबूर करने वाले डीवीसी के अधिकारी होंगे।

चेंबर के धरना प्रदर्शन में हुए शामिल

धरना में चेंबर अध्यक्ष विमल बुधिया, सचिव पंकज तिवारी, पूर्व अध्यक्ष प्रदीप सिंह, उपाध्यक्ष विष्णु पोदार, कोषाध्यक्ष मनोज चतुर्वेदी, गोपाल शर्मा, रविंद्र साहू ,पूर्व अध्यक्ष मनजी सिंह, जितेंद्र प्रसाद, दुर्गा प्रसाद सिंह, अनूप कुमार, अनिल सिन्हा, गुड्डू केसरी, संजय खंडेलवाल, पंकज सोबती, दिलीप दत्ता, जय कुमार अग्रवाल, विनय सिंह, सचिव राजीव चड्ढा, गुरजीत सिंह, रविंद्र सिंह छाबड़ा, उज्जवल सिंह, नीतू चौधरी, बॉबी वासुदेव,बबलू शर्मा, दिनेश, रमेश, मनोज अग्रवाल, रमेश बोदिया, किशोर जाजू, मंटू चौधरी, ब्रजकिशोर पाठक, रोहित अग्रवाल, गगन सिंह, रोहित राय, रमिद्र सिंह गांधी, इंद्रपाल सिंह सैनी, पप्पू जस्सल, गोपाल, विपिन पोद्दार, सुनील कुमार, जय कुमार अग्रवाल, सतीश, सोनू अग्रवाल, विवेक कोटेचा, बबलू, सरोज सिंह अरविंद सिंह, अखिलेश सिंह, शेखर सिंह सहित सैकड़ों लोग धरना में शामिल थे।

raja moter
Leave A Reply

Your email address will not be published.