भोपाल में सिंधिया का विरोध, स्वागत में लगे होर्डिंग्स व पोस्टरों पर पोती कालिख

yamaha

भोपाल: बीजेपी में शामिल होने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया पहली बार भोपाल आ रहे हैं। इसे लेकर बीजेपी में खासा उत्साह है और सिंधिया के भव्य स्वागत के लिए शहर के हर चौराहे पर होर्डिंग्स लगाए गए हैं। वहीं सिंधिया के बीजेपी में शामिल होने से कुछ लोग नाखुश नजर आ रहे हैं। ऐसे ही कुछ विरोधी लोगों ने पॉलिटेक्निक चैराहे पर सिंधिया के स्वागत में लगाये गए पोस्टर पर कालिख फेंकी और उसको फाड़ दिया।

नगरनिगम ने उतारे सारे पोस्ट
बीजेपी ने सिंधिया के स्वागत में शहर के चप्पे चप्पे पर पोस्टर लगाए थे। लेकिन नगरनिगम प्रशासन ने बड़ी कार्रवाई करते हुए रातों रात सारे पोस्टर उतरवा दिए।

पीसीसी कार्यलय से उतारी नेम प्लेट
ज्योतिरादित्य सिंधिया को बीजेपी की सदस्यता मिलते ही भोपाल में बने पीसीसी (कांग्रेस कार्यालय) से सिंधिया का केबिन हटा दिया गया है। उनका केबिन पीसीसी के ग्राउंड फ्लोर में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह चौहान और संजय सिंह के साथ ही था, उनके स्टाफ को भी केबिन दिया गया था। लेकिन सिंधिया के बीजेपी में शामिल होते ही दोनों केबिन को पीसीसी से उखाड़ फेंक दिया गया। सिंधिया से नाराज होने के कारण कांग्रेसियों ने उनकी नेम प्लेट को भी फेंक दिया और उनके नाम का पुतला भी जलाया।

दरअसल, 18 साल की कांग्रेसी राजनीति छोड़ बीजेपी में शामिल हुए सिंधिया का ये कदम कुछ लोगों को रास नहीं आ रहा है। यहीं वजह है कि कहीं लोग उनके पुतले जलाकर तो कहीं पोस्टर फाड़कर अपना विरोध दर्ज करा रहे हैं। बुधवार को बीजेपी में शामिल हुए सिंधिया आज दो दिवसीय दौरे पर भोपाल आ रहे हैं। इस दौरान वे राज्य सभा के लिए अपना नामांकन भरेंगे।

सिंधिया के बीजेपी में शामिल होने से कमलनाथ सरकार में इस्तीफों की झड़ी सी लग गई है और सरकार अल्पमत में आ सकती है। इसके बाद शिवराज सिंह का मुख्यमंत्री बनना तय माना जा रहा है। बीजेपी खेमे में इस बात को लेकर खुशी की लहर है। सिंधिया के स्वागत में उनके भोपाल पहुंचने से पहले ही समर्थकों ने पूरे शहर को होर्डिंग से पाट दिया है।

raja moter

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.