Logo
ब्रेकिंग
माता वैष्णों देवी मंदिर का 32वां वार्षिकोत्सव भंडारा के साथ संपन्न युवक ने प्रेमिका के लवर को उतारा मौत के घाट, वारदात को अंजाम देकर कुएं में फेंकी लाश । 1932 खतियान राज्यपाल ने किया वापस, झामुमो में आक्रोश, किया विरोध, फूंका प्रधानमंत्री का पुतला । रामगढ़ विधानसभा उपनिर्वाचन 2023 के मद्देनजर उपायुक्त ने की प्रेस वार्ता कराटे बेल्ट ग्रेडेशन टेस्ट सह प्रशिक्षण शिविर में 150 कराटेकार शामिल, उत्कृष्ट प्रदर्शनकारी को मिला ... श्रीराम सेना के विशाल हिंदू सम्मेलन में राष्ट्रवादी प्रखर प्रवक्ता पुष्पेंद्र कुलश्रेष्ठ और अंतरराष्... भव्य कलश यात्रा के साथ माता वैष्णों देवी मंदिर का 32वां वार्षिकोत्सव शुरू रामगढ़ में मनाया गया 74 वां गणतंत्र दिवस, विभिन्न कार्यालयों द्वारा निकाली गई झांकी माँ की ममता से दूर जेल में बंद पूर्व विधायक मामता देवी का दूधमुहा बच्चा बीमारी की गिरफ्त में । माता वैष्णों देवी मंदिर के 32वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 26 को

भोपाल में सिंधिया का विरोध, स्वागत में लगे होर्डिंग्स व पोस्टरों पर पोती कालिख

भोपाल: बीजेपी में शामिल होने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया पहली बार भोपाल आ रहे हैं। इसे लेकर बीजेपी में खासा उत्साह है और सिंधिया के भव्य स्वागत के लिए शहर के हर चौराहे पर होर्डिंग्स लगाए गए हैं। वहीं सिंधिया के बीजेपी में शामिल होने से कुछ लोग नाखुश नजर आ रहे हैं। ऐसे ही कुछ विरोधी लोगों ने पॉलिटेक्निक चैराहे पर सिंधिया के स्वागत में लगाये गए पोस्टर पर कालिख फेंकी और उसको फाड़ दिया।

नगरनिगम ने उतारे सारे पोस्ट
बीजेपी ने सिंधिया के स्वागत में शहर के चप्पे चप्पे पर पोस्टर लगाए थे। लेकिन नगरनिगम प्रशासन ने बड़ी कार्रवाई करते हुए रातों रात सारे पोस्टर उतरवा दिए।

पीसीसी कार्यलय से उतारी नेम प्लेट
ज्योतिरादित्य सिंधिया को बीजेपी की सदस्यता मिलते ही भोपाल में बने पीसीसी (कांग्रेस कार्यालय) से सिंधिया का केबिन हटा दिया गया है। उनका केबिन पीसीसी के ग्राउंड फ्लोर में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह चौहान और संजय सिंह के साथ ही था, उनके स्टाफ को भी केबिन दिया गया था। लेकिन सिंधिया के बीजेपी में शामिल होते ही दोनों केबिन को पीसीसी से उखाड़ फेंक दिया गया। सिंधिया से नाराज होने के कारण कांग्रेसियों ने उनकी नेम प्लेट को भी फेंक दिया और उनके नाम का पुतला भी जलाया।

दरअसल, 18 साल की कांग्रेसी राजनीति छोड़ बीजेपी में शामिल हुए सिंधिया का ये कदम कुछ लोगों को रास नहीं आ रहा है। यहीं वजह है कि कहीं लोग उनके पुतले जलाकर तो कहीं पोस्टर फाड़कर अपना विरोध दर्ज करा रहे हैं। बुधवार को बीजेपी में शामिल हुए सिंधिया आज दो दिवसीय दौरे पर भोपाल आ रहे हैं। इस दौरान वे राज्य सभा के लिए अपना नामांकन भरेंगे।

सिंधिया के बीजेपी में शामिल होने से कमलनाथ सरकार में इस्तीफों की झड़ी सी लग गई है और सरकार अल्पमत में आ सकती है। इसके बाद शिवराज सिंह का मुख्यमंत्री बनना तय माना जा रहा है। बीजेपी खेमे में इस बात को लेकर खुशी की लहर है। सिंधिया के स्वागत में उनके भोपाल पहुंचने से पहले ही समर्थकों ने पूरे शहर को होर्डिंग से पाट दिया है।

nanhe kadam hide