Logo
ब्रेकिंग
भव्य कलश यात्रा के साथ माता वैष्णों देवी मंदिर का 32वां वार्षिकोत्सव शुरू रामगढ़ में मनाया गया 74 वां गणतंत्र दिवस, विभिन्न कार्यालयों द्वारा निकाली गई झांकी माँ की ममता से दूर जेल में बंद पूर्व विधायक मामता देवी का दूधमुहा बच्चा बीमारी की गिरफ्त में । माता वैष्णों देवी मंदिर के 32वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 26 को सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर याद किए गए नेताजी, रामगढ़ से जुड़ा है नेताजी के कई लम्हो का नाता । स्वीप के तहत जिला प्रशासन एकादश एवं दिव्यांग एकादश के बीच हुआ क्रिकेट मैच का आयोजन । नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती एवं पराक्रम दिवस के अवसर पर माल्यार्पण कार्यक्रम का हुआ आयोजन । रामप्रसाद चंद्रभान सरस्वती विद्या मंदिर में संस्कृति ज्ञान परीक्षा का आयोजन। मेदांता रांची द्वारा अधिवक्ता संघ परिसर में लगाया गया निशुल्क स्वास्थ्य जांच शिविर । रामगढ़ विधानसभा उपचुनाव को लेकर कांग्रेस के पदाधिकारियों की हुई बैठक ।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे का बयान- मैंने सिंधिया को काफी समझाया पर वह नहीं माने

भोपाल: मध्य प्रदेश के पल पल बदलते माहौल को अचानक से चौंकाते हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया। जिसके तुरन्त बाद बीजेपी ने सिंधिया को राज्यसभा का टिकट दे दिया। सिंधिया के बीजेपी में शामिल होने के बाद उनको लेकर कांग्रेसी नेताओं की प्रतिक्रियाएं सामने आई है।

सिंधिया के बीजेपी मैं शामिल होने के सवाल पर वरिष्ठ कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने अब बयान दिया है। उन्होंने कहा कि मुझे बुरा लग रहा है कि सिंधिया ने कांग्रेस को अलविदा कह दिया। मैंने उन्हें काफी समझाया था की पार्टी छोड़ने की कोई आवश्यकता नहीं है, किंतु वह नहीं माने। वह एक युवा और अच्छे संचालक हैं किंतु पार्टी एक विचारधारा पर बनी होती है और इसे मानने वाले को पार्टी को मजबूत करने का काम करना चाहिए। वहीं उनसे यह भी कहा कि व्यक्तिगत लाभ और हानि सभी के जीवन का हिस्सा है। आप 4 बार सांसद रहे कई पदों पर भी रहे हैं इसलिए पार्टी छोड़ने का विचार छोड़ दे। किंतु उन्होंने किसी की बात नहीं सुनी और पार्टी से इस्तीफा दे दिया।

वहीं इससे पहले प्रदेश के पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने बयान देते हुए कहा था कि सिंधिया के जाने से कांग्रेस को कोई झटका नहीं लगा है। दिग्विजय सिंह ने सिंधिया के भाजपा में शामिल होने के बाद उन्हें बधाई देते हुए कहा था कि सिंधिया को बधाई, ईश्वर उनकी सुरक्षा करें। वहीं बागी विधायकों के वीडियो पर उन्होंने कहा कि यह पहले की वीडियो है। सरकार को कोई खतरा नहीं और सरकार चलेगी। पार्टी के अंदर किसी को कोई शिकायत नहीं है। यह सब भाजपा की सोची समझी साजिश है। इससे पहले छह मंत्रियों सहित 22 बागी विधायकों ने एक वीडियो जारी करते हुए सिंधिया के समर्थन की बात की थी। वही सिंधिया के इस्तीफे के साथ प्रदेश में सिंधिया समर्थक नेताओं के इस्तीफा देने का दौर चल पड़ा है।

nanhe kadam hide