मध्यप्रदेश: कांग्रेस का दावा,अभी भी बहुमत हमारे पास, नाराज विधायकों को मनाने की तैयारी

yamaha

भोपाल: मध्यप्रदेश की राजनीति में बदलते घटनाक्रम के बाद कमलनाथ सरकार पर संकट गहरा गया है। इस घटनाक्रम के बीच कांग्रेस और भाजपा दोनों ने विधायक दल की बैठक बुलाई। कांग्रेस विधायक दल की बैठक के बाद कांग्रेस नेता पीसी शर्मा और शोभा ओझा ने दावा किया कि कमलनाथ की सरकार के पास बहुमत है। सूत्रों के हवाले से यह भी खबर है कि कमलनाथ नाराज विधायकों की घर वापसी की कोशिश करेंगे। कर्नाटक में मौजूद नाराज विधायकों को मनाने के लिए कमलनाथ सज्जन सिंह वर्मा समेत तीन मंत्रियों को कर्नाटक भेजेंगे।

PunjabKesari
पीसी शर्मा ने कहा कि कांग्रेस के विधायकों को धोखा दिया गया। स्पीकर को जो इस्तीफा पत्र सौंपा गया है वह दबाव में लिखवाया गया है। शोभा ओझा ने कहा कि विधायकों को कहा गया था ज्योतिरादित्य सिंधिया को राज्यसभा चुनाव का टिकट दिलाना है इसलिए आपलोग उनके समर्थन में हस्ताक्षर कीजिए। इसी बहाने से कराए हस्ताक्षर के कागज को विधायकों के इस्तीफे के रूप में पेश किया गया है। शोभा ओझा ने दावा किया कि कहा कि कमलनाथ की सरकार पूरी तरह सुरक्षित है। विधानसभा में फ्लोर टेस्ट के दौरान कांग्रेस विधायक कमलनाथ सरकार के समर्थन में ही वोट करेंगे। इस बैठक में हिस्सा लेकर बाहर निकले विधायकों ने कहा कि कमलनाथ की ओर से बुलाई गई बैठक में 94 से ज्यादा विधायक पहुंचे थे।

PunjabKesari
उन्होंने बताया कि सीएम कमलनाथ ने सभी विधायकों से कहा है कि वे निर्भीक रहें और विधानसभा में फ्लोर टेस्ट के दौरान एकजुट होकर वोट करें। कमलनाथ ने साफ कर दिया है कि कांग्रेस के विधायकों को कहीं भी एकत्र करके नहीं रखा जाएगा। शोभा ओझा ने कहा कि जबतक कोई विधायक खुद से इस्तीफा पत्र लिखकर स्पीकर को नहीं सौंपता है तब तक उसे नहीं माना जाएगा।

PunjabKesari
उधर भाजपा सूत्रों के मुताबिक भाजपा विधायक दल की बैठक के बाद विधायकों को विधायकों को बाहर शिफ्ट अपने विधायकों को दूसरी जगह शिफ्ट कर रही है। भाजपा अपने विधायकों को भोपाल से कहीं दूसरी जगह शिफ्ट कर सकती है।

raja moter

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.