Logo
ब्रेकिंग
भव्य कलश यात्रा के साथ माता वैष्णों देवी मंदिर का 32वां वार्षिकोत्सव शुरू रामगढ़ में मनाया गया 74 वां गणतंत्र दिवस, विभिन्न कार्यालयों द्वारा निकाली गई झांकी माँ की ममता से दूर जेल में बंद पूर्व विधायक मामता देवी का दूधमुहा बच्चा बीमारी की गिरफ्त में । माता वैष्णों देवी मंदिर के 32वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 26 को सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर याद किए गए नेताजी, रामगढ़ से जुड़ा है नेताजी के कई लम्हो का नाता । स्वीप के तहत जिला प्रशासन एकादश एवं दिव्यांग एकादश के बीच हुआ क्रिकेट मैच का आयोजन । नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती एवं पराक्रम दिवस के अवसर पर माल्यार्पण कार्यक्रम का हुआ आयोजन । रामप्रसाद चंद्रभान सरस्वती विद्या मंदिर में संस्कृति ज्ञान परीक्षा का आयोजन। मेदांता रांची द्वारा अधिवक्ता संघ परिसर में लगाया गया निशुल्क स्वास्थ्य जांच शिविर । रामगढ़ विधानसभा उपचुनाव को लेकर कांग्रेस के पदाधिकारियों की हुई बैठक ।

बाबूलाल की राह में रोड़ा बनी कांग्रेस, कहा-नेता प्रतिपक्ष के तौर पर स्वीकार नहीं हैं मरांडी

रांची। झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे ने बयान जारी कर कहा है कि बाबूलाल मरांडी को किसी भी हाल में नेता प्रतिपक्ष स्वीकार नहीं किया जा सकता है। प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे ने कहा कि बाबूलाल प्रतिपक्ष का नेता बनने की अर्हता पूरी नहीं करते हैं। उनसे ज्यादा 10वीं अनुसूची का भुक्तभोगी कोई नहीं है। आलोक दूबे ने भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष को नसीहत देते हुए कहा है कि विधायी प्रक्रिया पूरी करने के बाद ही मरांडी को स्वीकार किया जा सकता है।

10वीं अनुसूची में स्पष्ट उल्लेख किया गया है कि सदन में दो तिहाई विधायकों के मर्जर को ही विलय माना जा सकता है। महत्वपूर्ण यह है कि दो तिहाई विधायक एक साथ किधर विलय करेंगे वही विलय मूल माना जायेगा। बाबूलाल को प्रतिपक्ष का नेता स्वीकार करना पूरी संवैधानिक संस्था का अपमान होगा और राज्य की जनता के जनादेश का अनादर होगा।

भाजपा के कृत्यों की वजह से बार-बार पूरे देश में झारखंड की बदनामी होती है। भाजपा और बाबूलाल में अगर थोड़ी भी नैतिकता है तो उन्हें विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा देकर दोबारा भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़कर जनादेश प्राप्त करना चाहिए। उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष से गुजारिश की है कि किसी भी कीमत पर बाबूलाल को प्रतिपक्ष के नेता के रूप में मान्यता नहीं दी जानी चाहिए।

nanhe kadam hide