झारखंड-छत्तीसगढ़ सीमा पर नक्‍सलियों ने कई वाहन फूंके, इलाके में दहशत

तृतीय सम्मेलन प्रस्तुति कमेटी नामक उग्रवादी संगठन ने सीसीएल की मगध और आम्रपाली कोल परियोजना क्षेत्रों में बैनर और पोस्टर चस्पा कर सनसनी फैला दी है।

yamaha

रांची। गुमला जिला के घाघरा एवं गढ़वा जिला से सटे छत्तीसगढ़ सीमा पर सोमवार को उग्रवादियों ने जमकर उत्पात मचाया। इस क्रम में कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया। गुमला के सेरेंगदाग ऊपर तेतरडीपा गांव के जंगल के समीप उग्रवादियों ने पुल निर्माण के काम में लगी वोल्वो कंपनी के इक्सेवेटर में सोमवार की शाम लगभग सात बजे आग लगा दी।

जानकारी के मुताबिक सोमवार की शाम सात राइफलधारी उग्रवादी वहां पहुंचे। हथियार का भय दिखाकर इक्सेवेटर चालक को इक्सेवेटर के साथ जंगल की ओर ले गए। उग्रवादियों ने चालक से ही डीजल निकलवाया और इक्सेवेटर में आग लगा दी। इधर गढ़वा के बडग़ड़ प्रखंड अंतर्गत टेहरी पंचायत के सरूवत गांव के समीप गढ़वा-छत्तीसगढ़ सीमा पर नक्सलियों ने कई वाहनों को फूंक डाला। घटना बंदरचुंआं के समीप भुताही मोड़ के पास की है।

सोमवार को दिन के करीब 11 बजे नक्सलियों ने तीन हाईवा, एक मिक्सर मशीन, एक ग्रेडर मशीन व दो जेसीबी वाहन को आग के हवाले कर दिया। हालांकि घटना में किस नक्सली संगठन का  हाथ है, यह साफ नहीं हो पाया है। बंदरचुआं में जहां वाहन और मशीनें  जलाई गईं हैं, इस रास्ते पर सबाग से चुनचुना पुंदाग तक सड़क निर्माण का कार्य चल रहा है। जानकारी के अनुसार आग लगाने से पहले नक्सलियों ने बम विस्फोट भी किया।

टीएसपीसी ने आम्रपाली कोल परियोजना में चिपकाया पोस्टर

तृतीय सम्मेलन प्रस्तुति कमेटी नामक उग्रवादी संगठन ने सीसीएल की मगध और आम्रपाली कोल परियोजना क्षेत्रों में बैनर और पोस्टर चस्पा कर सनसनी फैला दी है। पोस्टर के जरिए टीएसपीसी ने आपराधिक गुटों को सचेत किया है। साथ ही पुलिस व प्रशासन को भी आड़े हाथों लिया है। पोस्टर में एक जाति विशेष के लोगों की हत्या के लिए टंडवा के कुछ लोगों को चिह्नित करते हुए उनकी चल एवं अचल संपत्ति को जब्त करने की धमकी दी गई है। पुलिस ने पोस्टर व बैनरों को जब्त कर लिया है।

raja moter
Leave A Reply

Your email address will not be published.