Logo
ब्रेकिंग
Bjp प्रत्याशी ढुल्लु महतो के समर्थन में विधायक सरयू राय के विरुद्ध गोलबंद हूआ झारखंड वैश्य समाज l हजारीबाग लोकसभा इंडिया प्रत्याशी जेपी पटेल ने किया मां छिनमस्तिका की पूजा अर्चना l गांजा तस्कर के साथ मोटासाइकिल चोर को रामगढ़ पुलिस ने किया गिरफ्तार स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार

राष्‍ट्र सेविका समिति की अखिल भारतीय कार्यकारिणी बैठक शुरू, सीएए-महिला सुरक्षा पर होगी चर्चा

सरला बिरला स्कूल में इस तीन दिवसीय बैठक का उद्घाटन शनिवार को सुबह 9.30 बजे किया गया। कार्यक्रम का समापन सोमवार को होगा।

रांची। राष्ट्र सेविका समिति की अखिल भारतीय कार्यकारिणी की तीन दिवसीय बैठक रांची के सरला बिरला विवि के कैंपस में शनिवार को शुरू हुई। तीन दिनों तक चलने वाली इस बैठक में अखिल भारतीय प्रमुख संचालिका शांता अक्का, प्रमुख कार्यवाहिका अन्नदानम सीता गायत्री सहित केंद्रीय अधिकारी, सभी प्रांत की संचालिका, कार्यवाहिका, प्रचारिका भाग ले रही हैं। इस बैठक में सीएए के परिणाम, महिला सुरक्षा, आदि विषयों पर चर्चा होगी।

सरला बिरला स्कूल में इस तीन दिवसीय बैठक का उद्घाटन शनिवार को सुबह 9.30 बजे किया गया। कार्यक्रम का समापन सोमवार को होगा। बैठक में लगभग 150 प्रतिनिधि भाग ले रही हैं। इस तीन दिवसीय आयोजन के दौरान अलग-अलग सत्रों में देश की वर्तमान स्थिति पर चर्चा होगी। साथ ही पिछले वर्ष के कामों एवं आगे की योजना पर विचार विमर्श किया जाएगा। इस तरह की बैठक वर्ष में दो बार फरवरी एवं जुलाई में होती है, जबकि वार्षिक बैठक मार्च महीने में नागपुर में होती है।

राष्ट्र सेविका समिति का परिचय

भारत में स्त्रियों की संस्था है राष्ट्र सेविका समिति, जो राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के ही दर्शन के अनुरूप कार्य करती है। किंतु यह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की महिला शाखा नहीं है। इसकी स्थापना 1936 में विजयादशमी के दिन वर्धा में हुई थी। लक्ष्मीबाई केलकर (मौसीजी) इसकी प्रथम प्रमुख संचालिका थीं। वर्तमान में शांता कुमारी (उपाख्य शांता अक्का) प्रमुख संचालिका हैं। इसका ध्येयसूत्र है – स्त्री राष्ट्र की आधारशीला है। अभी पूरे देश के 2380 स्थानों पर 2784 शाखाएं लगती हैं। भारत के साथ-साथ 22 देशों में समिति की शाखाएं हैं। समिति की ओर से 52 सेवा प्रकल्प चलाए जा रहे हैं। गरीबी, आतंकवाद एवं नक्सल प्रभावित बच्चियों के लिए 22 छात्रावास संचालित हैं।