Logo
ब्रेकिंग
स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न ।

झारखंड के महामहिम राज्यपाल  सी०पी० राधाकृष्णन ने गुमला प्रोजेक्ट उच्च विद्यालय परिसर, बदरी (घाघरा),  में आयोजित “स्वर्गीय कार्तिक उराँव स्मृति जतरा सह खेलकूद प्रतियोगिता एवं सांस्कृतिक महोत्सव 2023” का किया उदघाटन।

गुमला:   राज्यपाल सी०पी० राधाकृष्णन ने प्रोजेक्ट उच्च विद्यालय परिसर, बदरी (घाघरा), गुमला  में आयोजित “स्वर्गीय कार्तिक उराँव स्मृति जतरा सह खेलकूद प्रतियोगिता एवं सांस्कृतिक महोत्सव 2023” का उदघाटन किया। इस कार्यक्रम में पहुंचे राज्यपाल झारखंड की सांस्कृतिक और पारंपरिक तरीके से भव्य स्वागत किया गया, वही इस कार्यक्रम में झारखंड की संस्कृति दर्शाता वेशभूषा और संस्कृति की से जुड़ी एक से बढ़कर एक नृत्य और संगीत की प्रस्तुति कि गयी l

उक्त अवसर उन्होंने पंखराज साहब कार्तिक उरांव जी को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि उनका समाज के विकास में अमूल्य योगदान रहा है। राज्यपाल ने कहा कि अपने लिए तो हर कोई जीता है, लेकिन जो समाज के लिए जीता है, वे सदैव याद किये जाते हैं। पंखराज साहेब कार्तिक उराँव जी एक असाधारण व्यक्ति व  ‘कर्मयोगी’ थे, जिन्होंने समाज के विकास और लोगों के उत्थान के लिए समर्पित भाव से कार्य किया। राज्यपाल ने कहा कि एक साधारण किसान परिवार में जन्म लेने वाले शिक्षा एवं प्रसिद्धि की ऊंचाइयों को प्राप्त करने वाले एक महान शिक्षाविद्, कुशल इंजीनियर व दूरदर्शी व्यक्ति पंखराज साहेब कार्तिक उराँव जी का जीवन प्रेरणा का स्रोत है। झारखंड की पावन भूमि पर उनका जन्म हम सभी के लिए गर्व का विषय है। उनके प्रयासों से बिरसा कृषि विश्वविद्यालय और अन्य संस्थानों की स्थापना हुई।

राज्यपाल ने कहा कि कार्तिक उराँव जी का मानना था कि शिक्षा केवल व्यक्तिगत हित का साधन नहीं है, बल्कि संपूर्ण समाज को सशक्त बनाने का साधन है। राज्यपाल ने कहा कि प्रत्येक बच्चे को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने के लिए सभी प्रतिबद्ध होना चाहिए, झारखंड के हर बच्चे को अच्छी शिक्षा मिले। अपने बच्चे को अच्छी  शिक्षा देना प्रत्येक माता-पिता का परम कर्तव्य है। ज्ञान से बड़ी कोई ताकत नहीं है। प्रधानमंत्री जी बच्चों के भविष्य के प्रति बहुत संवेदनशील हैं। इस दिशा में झारखंड राज्य को बड़ी संख्या में ‘एकलव्य विद्यालय’ प्रदान किए गये हैं। 

राज्यपाल ने सभी को ‘जतरा’ की बधाई देते हुए कहा कि कार्तिक उराँव जी के द्वारा दिए गए संदेश सभी को हमेशा प्रेरित करता रहेगा।