Logo
ब्रेकिंग
रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न । रामगढ़ एसपी ने पांच पुलिस निरीक्षकों को किया पदस्थापित रामगढ़ में एक डीलर और 11 अवैध राशन कार्डधारियों को नोटिस जारी पुलिस अधीक्षक के कार्रवाई से पुलिस महकमा में हड़कंप, चार पुलिस कर्मी Suspend रामगढ़ छावनी फुटबॉल मैदान में लगा हस्तशिल्प मेला अब सिर्फ 06फ़रवरी तक l असामाजिक तत्वों ने देवी देवताओं की मूर्ति को किया क्षतिग्रस्त, गुस्साए ग्रामीणों ने किया सड़क जाम l

डीसी के निर्देश पर चला अभियान, 6 अयोग्य राशन कार्डधारियों से वसूले जाएंगे 474 401 रुपए

डीसी के निर्देश पर चला अभियान, 6 अयोग्य राशन कार्डधारियों से वसूले जाएंगे 474 401 रुपए

रामगढ़ डीसी चंदन कुमार के निर्देश पर जिले के विभिन्न क्षेत्रों में जिला आपूर्ति पदाधिकारी रंजीता टोप्पो एवं प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी रीना कुजूर ने मंगलवार को अयोग्य राशन कार्डधारियों के विरुद्ध जांच अभियान चलाया. जांच अभियान के दौरान कार्डधारी तुलसी महतो, वासुदेव महतो, प्रमिला सिंह, कुसुम सिंह, कमला देवी एवं बेबी राय राशन कार्ड अहर्ता के अनुरूप अयोग्य पाए गए. जिसके बाद सभी के विरुद्ध कार्रवाई करते हुए अबतक उठाये गये राशन के बाजार दर पर 12% ब्याज के साथ जुर्माना वसूलने की कार्रवाई की जा रही है. डीसी के निर्देश पर जिला आपूर्ति पदाधिकारी द्वारा चलाए गए जांच अभियान के दौरान उपरोक्त कुल 6 लोगों से कुल 50 हज़ार 829 रुपए ब्याज राशि सहित 4 लाख 74 हज़ार 401 रुपए वसूली जाएगी.
बता दें कि पूर्व में ही डीसी ने अपील की थी कि अयोग्य राशन कार्डधारक अपना राशन कार्ड स्वत: ही सरेंडर कर दें, परंतु अपील के पश्चात कुछ एक के द्वारा ही राशन कार्ड सरेंडर किया गया.
बता दें कि पूर्व में ही डीसी ने अपील की थी कि अयोग्य राशन कार्डधारक अपना राशन कार्ड स्वत: ही सरेंडर कर दें, परंतु अपील के पश्चात कुछ एक के द्वारा ही राशन कार्ड सरेंडर किया गया. जिसके बाद डीसी ने अयोग्य राशन कार्ड धाराकों के विरुद्ध जांच अभियान चलाने का निर्देश दिया. इस तरह के जांच अभियान भविष्य में निरंतर चलते रहेंगे, जिसके तहत जन वितरण प्रणाली के साथ-साथ लाभुकों का भौतिक सत्यापन भी किया जाएगा एवं दोषी पाए जाने पर 12% ब्याज सहित जुर्माना राशि वसूली जाएगी.