Logo
ब्रेकिंग
आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न । रामगढ़ एसपी ने पांच पुलिस निरीक्षकों को किया पदस्थापित रामगढ़ में एक डीलर और 11 अवैध राशन कार्डधारियों को नोटिस जारी

उपायुक्त ने किया दो अभियुक्तों को जिला बदर वही एक को प्रतिदिन थाने में हाजिरी लगाने का दिया आदेश

रामगढ़: अपराधिक गतिविधियों पर अंकुश लगाने एवं समाज में विधि व्यवस्था और लोक शांति बनाए रखने के उद्देश्य से उपायुक्त श्री चंदन कुमार ने दो अभियुक्तों को किया जिला बदर।
विद्वान सरकारी अधिवक्ता रामगढ़ के दिए गए मंतव्य एवं पुलिस अधीक्षक रामगढ़ द्वारा प्राप्त अनुशंसा के आलोक में उपायुक्त ने झारखंड अपराध नियंत्रण अधिनियम 2002 के अध्याय 2 की धारा 3 उप धारा 3 का प्रयोग करते हुए कुख्यात अपराध कर्मियों ओम प्रकाश पांडे एवं प्रेम प्रकाश पांडे ,पिता-नाधो पांडे ,सा०- जयनगर थाना -पतरातू जिला -रामगढ़ को 6 महीने के लिए रामगढ़ जिला क्षेत्राधिकार से निष्कासन(जिला बदर)का आदेश दिया।
आदेश में यह भी लिखित है कि अभियुक्त यदि न्यायिक हिरासत से बाहर आ चुके हैं तो उन्हें 24 घंटे के भीतर अथवा न्यायिक हिरासत से बाहर आने के 24 घंटे के भीतर जिले की सीमा छोड़ देंगे एवं छह माह तक जिले की सीमा में बगैर लिखित पूर्वानुमिति के प्रवेश नहीं करेंगे।
वहीं जिला बदर किए गए अभियुक्तो कोई भी अनुज्ञप्ति धारित शस्त्र अभिलंब ही स्थानीय थाने में जमा करेंगे एवं इस अवधि के दौरान अभियुक्तों के द्वारा किसी भी तरह के शस्त्र धारण नहीं किए जाएंगे। वहीं उपायुक्त ने आदेश दिया कि
आदेश का उल्लंघन झारखंड अपराध नियंत्रण अधिनियम 2002 की धारा 25 तथा भारतीय दंड संहिता इत्यादि के अन्य सुसंगत धाराओं के अंतर्गत दंडनीय होगा।वहीं पर कुख्यात अपराध कर्मी रियाज अंसारी, पिता- नूर हसन अंसारी, सा०-रोचाप ,थाना- पतरातु जिला -रामगढ़ के विरोध झारखंड अपराध नियंत्रण अधिनियम 2002 की धारा 3 उप धारा-3 खंड (ब ) के उपखंडों 1,2 एवं 3 के तहत 6 महीने के लिए प्रतिदिन 10:00 बजे पूर्वाह्न में थाना प्रभारी पतरातू के समक्ष हाजिरी लगाने का आदेश दिया गया।
उक्त अवधि के दौरान अभियुक्त के पास यदि कोई अनुज्ञप्ति धारित शस्त्र है तो उसे अविलंब स्थानीय थाना में जमा कराएंगे एवं इस अवधि में किसी भी स्थिति में शस्त्र धारण नहीं करेंगे।