Logo
ब्रेकिंग
स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न ।

*रामगढ़ में गोली चलने की घटना दुखद; जेएमएम-कांग्रेस सरकार में अपराधियों के हौसले बुलंद: सांसद जयंत सिन्हा*

ज्ञात हो कि रामगढ़ स्थित कुज्जू के चुपरा गाँव में 13 अगस्त 2023 को भूमि विवाद में दो पक्षों के बीच गोलीबारी की घटना हुई। इस घटना में एक व्यक्ति की मृत्यु हो गयी। जेएमएम-कांग्रेस सरकार की विफलता के कारण हज़ारीबाग व रामगढ़ समेत झारखण्ड में आज कानून व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त हो चुकी है। राज्य में आपराधिक घटनाएं दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही हैं।

सांसद जयंत सिन्हा ने इस मामले को लेकर तत्काल रामगढ़ पुलिस अधीक्षक से बात की और उन्हें सख्ती से कार्रवाई करने को कहा। उन्होंने झारखण्ड की जर्जर कानून व्यवस्था को लेकर संसद व माननीय राज्यपाल सी.पी. राधाकृष्णन जी का ध्यान आकृष्ट करवाया है। उन्होंने कहा कि झारखण्ड में आज कानून व्यवस्था पूरी तरह से जर्जर हो गयी है। हज़ारीबाग व रामगढ़ ज़िलों समेत पूरे राज्य में अपराधियों का मनोबल चरम पर है। हत्या, दुष्कर्म, चोरी व लूटपाट जैसी घटनाएं राज्य में आम बात हो गयी हैं। हज़ारीबाग आपराधिक घटनाओं के मामले में राज्य में पहले स्थान पर है।

सांसद जयंत सिन्हा ने कहा कि झारखण्ड में जनता स्वयं को असुरक्षित महसूस कर रही है। एनसीआरबी की क्राइम इन इंडिया रिपोर्ट 2021 के अनुसार झारखण्ड में हत्या की दर देश में सबसे अधिक 4.1 प्रतिशत है। यह दर्शाता है कि राज्य सरकार कानून व्यवस्था को मज़बूत बनाये रखने में असमर्थ है। रामगढ़ में जो घटना घटी है उसकी निष्पक्ष जांच होनी चाहिए ताकि दोषियों को कठोर सज़ा मिल सके।