Logo
ब्रेकिंग
रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न । रामगढ़ एसपी ने पांच पुलिस निरीक्षकों को किया पदस्थापित रामगढ़ में एक डीलर और 11 अवैध राशन कार्डधारियों को नोटिस जारी पुलिस अधीक्षक के कार्रवाई से पुलिस महकमा में हड़कंप, चार पुलिस कर्मी Suspend रामगढ़ छावनी फुटबॉल मैदान में लगा हस्तशिल्प मेला अब सिर्फ 06फ़रवरी तक l असामाजिक तत्वों ने देवी देवताओं की मूर्ति को किया क्षतिग्रस्त, गुस्साए ग्रामीणों ने किया सड़क जाम l

4 बंद पड़े खदानों में मत्स्य पालन शुरू करने का उपायुक्त ने दिया निर्देश, लगभग 250 लोगों को मिलेगा रोजगार

आरा कोलपीट नंबर 8, आरा कोलपिट नंबर 13, सायल कोलपिट एवं सौंदा डी कोलपिट में शुरू होगी मत्स्य पालन परियोजना।

रामगढ़: रामगढ़ जिले में मत्स्य पालन को बढ़ावा देने के मद्देनजर शनिवार को उपायुक्त, रामगढ़ श्री चंदन कुमार की अध्यक्षता में समाहरणालय सभाकक्ष में बैठक का आयोजन किया गया। इस दौरान जिला मत्स्य पदाधिकारी श्री प्रदीप कुमार के द्वारा उपायुक्त सहित बैठक में उपस्थित अन्य अधिकारियों को जिले के विभिन्न क्षेत्रों में बंद पड़े खदानों एवं खदानों में मत्स्य पालन को बढ़ावा देने के मद्देनजर तैयार की गई परियोजना की जानकारी दी गई। जिला मत्स्य पदाधिकारी के द्वारा बताया गया कि जिले के मांडू प्रखंड अंतर्गत आरा क्षेत्र में कुज्जू मत्स्य जीवी सहयोग समिति के द्वारा बंद खदान नंबर 8 में मत्स्य पालन का कार्य किया जा रहा है जिससे की समिति को काफी फायदा हुआ है। इसी को ध्यान में रखते हुए जिले के अलग-अलग क्षेत्रों में कुल 4 बंद पड़े खदानों को चिन्हित कर मत्स्य पालन का कार्य किया जाना है। उन्होंने बताया कि 4 बंद पड़े खदानों में आरा कोलपिट नंबर 8, आरा कोलपीट नंबर 14, सयाल कोलपिट एवं सौंदा डी कोलपिट में 2 मत्स्य जीवी समितियों के कुल 8 समूहों के द्वारा मत्स्य पालन का कार्य किया जाएगा। परियोजना के माध्यम से लगभग 250 लोगों को रोजगार मिलेगा। इस दौरान उपायुक्त ने संबंधित खनन क्षेत्र के सीसीएल के अधिकारियों के साथ उपरोक्त खदानों में मत्स्य पालन का कार्य शुरू करने को लेकर आवश्यक विषयों पर चर्चा की जिसके उपरांत उपायुक्त ने जिले वासियों को रोजगार के अवसर प्रदान करने के मद्देनजर जल्द से जल्द परियोजना के तहत कार्य शुरू करने का निर्देश दिया वहीं उपायुक्त ने अन्य बंद पड़े खदानों को भी चिन्हित करने व मत्स्य पालन के दिशा में कार्य करने हेतु आवश्यक निर्देश दिए।