Logo
ब्रेकिंग
स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न ।

Ganster अमन साहू गिरोह के गु’र्गे को पकड़ने गए Ats टीम पर हमला, डीएसपी को मारी गो’ ली l

रामगढ़ : जेल में बंद अपराधी अमन साहू गिरोह के अपराधी को पकड़ने गए एटीएस के डीएसपी नीरज कुमार को अपराधियों ने गोली मार दी. साथ ही दरोगा सोनू कुमार को भी गोली लगने की सूचना है, जानकारी के अनुसार दोनों की हालत गंभीर बनी हुई है उन्हें रांची के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। इस घटना से पूरे रामगढ़ जिले में दहशत का माहौल हैं।

इह घटना रामगढ़ जिले के पतरातू थाना क्षेत्र कि हैं जहां सोमवार की देर रात इह दिल दहला देने वाली घटना को अमन साहू गिरोह के गुर्गो ने अंजाम दिया। जानकारी के मुताबिक, एटीएस डीएसपी नीरज कुमार के नेतृत्व में टीम अमन साहू गिरोह से जुड़े शूटर को गिरफ्तार करने गई थी। जहां एक गुर्गे को पकड़ने में सफलता भी हासिल की थी। लेकिन अपराधियों ने एटीएस टीम पर अंधाधुंध फायरिंग कर दी। इसे एटीएस डीएसपी नीरज कुमार और दरोगा सोनू कुमार को गोली लगी और गंभीर रूप से घायल हो गए। इसके बाद नीरज कुमार को हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। वहीं अपराधियों की धरपकड़ के लिए सघन छापेमारी की जा रही है।
घटना के बारे में बताया जा रहा है कि एटीएस को अमन साहू गिरोह के कुछ शूटर्स के पतरातू में होने का लोकेशन मिला था। जिसके बाद डीएसपी नीरज कुमार के नेतृत्व में एटीएस की एक टीम पतरातू पहुंची थी। एटीएस की टीम ने शूटर को पकड़ लिया था। इतने में ही शूटर में फायरिंग कर दी। जिसमें गोली डीएसपी नीरज कुमार और दरोगा सोनू कुमार को लगी है उनकी हालत गंभीर बताई जा रही है।इससे पूर्व भी पिछले वर्ष 2022 में अक्टूबर माह में इस झारखंड के कुख्यात गैंगस्‍टर अमन साहू गिरोह से जुड़े आठ जिलों के 81 ठिकानों पर एटीएस की छापेमारी से राज्‍यभर में सनसनी मच गई थी । झारखंड में संगठित आपराधिक गिरोहों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करते हुए आतंकवाद निरोधक दस्ते, झारखंड एटीएस ने राज्‍य के आठ जिलों में 81 ठिकानों पर छापेमारी की और इस दौरान अमन साहू गिरोह की गतिविधियों के बारे में दस्ते को विस्तृत जानकारी भी मिली। इन जानकारियों पर आगे भी सख्‍त कार्रवाई किए जाने की पूरी संभावना थी ।