Logo
ब्रेकिंग
मॉबली*चिंग के खिलाफ भाकपा-माले ने निकाला विरोध मार्च,किया प्रदर्शन छावनी को किसान सब्जी विक्रेताओं को अस्थाई शिफ्ट करवाना पड़ा भारी,हूआ विरोध व गाली- गलौज सूक्ष्म से मध्यम उद्योगों का विकास हीं देश के विकास का उन्नत मार्ग है बाल गोपाल के नए प्रतिष्ठान का रामगढ़ सुभाषचौक गुरुद्वारा के सामने हुआ शुभारंभ I पोड़ा गेट पर गो*लीबारी में दो गिर*फ्तार, पि*स्टल बरामद Ajsu ने सब्जी विक्रेताओं से ठेकेदार द्वारा मासूल वसूले जाने का किया विरोध l सेनेटरी एवं मोटर आइटम्स के शोरूम दीपक एजेंसी का हूआ शुभारंभ घर का खिड़की तोड़ लाखों रुपए के जेवरात कि चोरी l Ajsu ने किया चोरों के गिरफ्तारी की मांग I 21 जुलाई को रामगढ़ में होगा वैश्य समाज के नवनिर्वाचित सांसद और जनप्रतिनिधियों का अभिनंदन l उपायुक्त ने कि नगर एवं छावनी परिषद द्वारा संचालित योजनाओं की समीक्षा।

नियोजन नीति के विरोध में झारखंड बंद, सड़कों पर उतरे छात्र, किया प्रदर्शन, हुआ चक्का जाम 

रांची : झारखंड स्टेट स्टूडेंट्स यूनियन के आह्वान पर 60-40 नियोजन नीति के विरोध में 48 घंटे के लिए झारखंड बंद किया गया है। जिसके तहत उन्होंने 9 जून की संध्या को मशाल जुलूस निकालकर बंद की चेतावनी दी थी l वही आज 10 जून को रांची समेत रामगढ़ में सुबह से ही बस सेवा प्रभावित रही वहीं कुछ जरूरी सेवाओं को छोड़कर सभी वाहनों का आवागमन पूरी तरह से अवरुद्ध कर दिया गया l आप इस वीडियो में देख सकते हैं कि किस प्रकार से स्टूडेंट्स उग्र प्रदर्शन कर हेमंत सरकार मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए पूरे एनएच और शहर में आवागमन को पूरी तरह से अवरुद्ध कर दिया है l

60- 40 नियोजन नीति के विरोध में झारखंड स्टेट स्टूडेंट इंडियन द्वारा बुलाई गई बंद का रामगढ़ जिला में भी व्यापक असर दिखा l

60- 40 नियोजन नीति के विरोध में झारखंड स्टेट स्टूडेंट इंडियन की ओर से बुलाई गई दो दिवसीय झारखंड बंद के पहला दिन 10 जून को रामगढ़ जिला में व्यापक असर देखने को मिला । सुबह से ही बंद समर्थक जिले के विभिन्न चौक चौराहों को बंद कर दिया । साथ ही सड़क पर उतर कर हेमंत सरकार का जमकर विरोध किया। सड़कों में टायर जलाया और वाहनों को रोक दिया । एनएच 33 रांची-पटना मुख्य मार्ग कोठार के पास बंद समर्थक ब्रैकेट बनाकर वाहनों को रोक दिया जिससे सड़क की दोनों और वाहनों की कतार लग गई । बंद कर्मियों की मांग है 1932 की खतियान आधारित नियोजन नीति लागू करें । छात्र नेताओं का कहना था कि अगर हम लोगों की मांगे पूरी नहीं की जाती है तो आने वाले समय में काफी कठोर रणनीति अपनाई जाएगी । आज कड़कती धूप में छात्रों के साथ उनके अभिभावक भी सड़क पर उतरे हुए हैं । हेमंत सरकार को नियोजन नीति में बदलाव करनी ही पड़ेगी ।