Logo
ब्रेकिंग
आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न । रामगढ़ एसपी ने पांच पुलिस निरीक्षकों को किया पदस्थापित रामगढ़ में एक डीलर और 11 अवैध राशन कार्डधारियों को नोटिस जारी

नियोजन नीति के विरोध में झारखंड बंद, सड़कों पर उतरे छात्र, किया प्रदर्शन, हुआ चक्का जाम 

रांची : झारखंड स्टेट स्टूडेंट्स यूनियन के आह्वान पर 60-40 नियोजन नीति के विरोध में 48 घंटे के लिए झारखंड बंद किया गया है। जिसके तहत उन्होंने 9 जून की संध्या को मशाल जुलूस निकालकर बंद की चेतावनी दी थी l वही आज 10 जून को रांची समेत रामगढ़ में सुबह से ही बस सेवा प्रभावित रही वहीं कुछ जरूरी सेवाओं को छोड़कर सभी वाहनों का आवागमन पूरी तरह से अवरुद्ध कर दिया गया l आप इस वीडियो में देख सकते हैं कि किस प्रकार से स्टूडेंट्स उग्र प्रदर्शन कर हेमंत सरकार मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए पूरे एनएच और शहर में आवागमन को पूरी तरह से अवरुद्ध कर दिया है l

60- 40 नियोजन नीति के विरोध में झारखंड स्टेट स्टूडेंट इंडियन द्वारा बुलाई गई बंद का रामगढ़ जिला में भी व्यापक असर दिखा l

60- 40 नियोजन नीति के विरोध में झारखंड स्टेट स्टूडेंट इंडियन की ओर से बुलाई गई दो दिवसीय झारखंड बंद के पहला दिन 10 जून को रामगढ़ जिला में व्यापक असर देखने को मिला । सुबह से ही बंद समर्थक जिले के विभिन्न चौक चौराहों को बंद कर दिया । साथ ही सड़क पर उतर कर हेमंत सरकार का जमकर विरोध किया। सड़कों में टायर जलाया और वाहनों को रोक दिया । एनएच 33 रांची-पटना मुख्य मार्ग कोठार के पास बंद समर्थक ब्रैकेट बनाकर वाहनों को रोक दिया जिससे सड़क की दोनों और वाहनों की कतार लग गई । बंद कर्मियों की मांग है 1932 की खतियान आधारित नियोजन नीति लागू करें । छात्र नेताओं का कहना था कि अगर हम लोगों की मांगे पूरी नहीं की जाती है तो आने वाले समय में काफी कठोर रणनीति अपनाई जाएगी । आज कड़कती धूप में छात्रों के साथ उनके अभिभावक भी सड़क पर उतरे हुए हैं । हेमंत सरकार को नियोजन नीति में बदलाव करनी ही पड़ेगी ।