Logo
ब्रेकिंग
DISNEY LAND MELA का रामगढ़ फुटबॉल मैदान में हुआ शुभारंभ विस्थापितों की 60% की भागीदारी सुनिश्चित नहीं हुई, तो होगा CCl का चक्का जाम Income tax raid फर्नीचर व गद्दे में थीं नोटों की गड्डियां, यहां IT वालो को मिली अरबों की संपत्ति! बाइक चोरी करने वाले impossible गैंग का भंडाफोड़, पांच अपरा'धी गिरफ्तार।। रामगढ़ की बेटी महिमा को पत्रकारिता में अच्छा प्रदर्शन के लिए किया गया सम्मानित Bjp प्रत्याशी ढुल्लु महतो के समर्थन में विधायक सरयू राय के विरुद्ध गोलबंद हूआ झारखंड वैश्य समाज l हजारीबाग लोकसभा इंडिया प्रत्याशी जेपी पटेल ने किया मां छिनमस्तिका की पूजा अर्चना l गांजा तस्कर के साथ मोटासाइकिल चोर को रामगढ़ पुलिस ने किया गिरफ्तार स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा*

चिपको आंदोलन जैसा झारखंड में दिखा नज़ारा, पेड़ कटाई के विरुद्ध महिलाएं पेड़ों से लिपटी

चिपको आंदोलन जैसा झारखंl

में दिखा नज़ारा, पेड़ कटाई के विरुद्ध महिलाएं पेड़ों से लिपटी

रामगढ़ : पर्यावरण की रक्षा का ऐतिहासिक चिपको आंदोलन जैसा ही नजारा झारखंड के रामगढ़ में देखने को मिला, जब ग्रामीण महिलाएं पेड़ों से चिपक कर पेड़ बचाने के लिए पुलिस प्रशासन से नोकझोंक करती नजर आई, आप इस पुलिस प्रशासन और ग्रामीणों के बीच पेड़ों को बचाने के लिए आंदोलन करती महिलाओं के वीडियो को देखेगे तो यह वीडियो आपको इतिहास के उस तारीख को याद दिलागा, ज़ब वर्तमान उत्तराखंड में 1972 में जंगलों की हुई अंधाधुन और अवैध कटाई को रोकने के लिए
तत्कालीन उत्तर प्रदेश के चमोली जिले में सन 1973 में चिपको आंदोलन प्रारंभ की गई थी l दरअसल चमोली के स्थानीय आंदोलनकारी चंडी प्रसाद भट्ट और गौरा देवी की ओर से पेड़ को बचाने के लिए चिपको आंदोलन किया गया था और झारखंड के रामगढ़ जिले में भी ऐसे दृश्य देखने को मिला है, जहां पेड़ो की रक्षा के लिए बड़ी संख्या में महिलाए पेड़ों से चिपक कर, तो पेड़ को काटने की प्रक्रिया शुरू करने पहुंचे वन विभाग और पुलिस प्रशासन के लोगो के पैर को पकड़कर रोती गिराती नजर आई l विरोध कर रही महिलाओं ने पेड़ कटाई से हुए प्रदूषण और जानमाल की क्षति का हवाला देते हुए पेड़ की कटाई के प्रक्रिया को शीघ्र रोकने का आग्रह किया! गौरतलब है कि रामगढ़ जिला अंतर्गत कुज्जू ओपी क्षेत्र के निजी कंपनी के विस्तारीकरण के दौरान यह मामला सुर्खियों में आया और तब से इसका वीडियो चर्चा का विषय बना हुआ है l